March 4, 2024

भीड़ से निकल सड़क पर लहूलुहान पड़े घायल को बचाने वाले 7 नेक इंसान पुरस्कृत

1 min read

मानवता को पुलिस ने किया नमन

जब कभी सड़क पर कोई हादसा होता है, तो ज्यादातर राहगीर उस भीड़ का एक सामान्य हिस्सा बन कर रह जाते हैं और घायल को बस देखते रह जाते हैं या अनदेखा कर आगे निकल जाते हैं। पर इसी भीड़ में कुछ ऐसे साहसी लोग भी होते हैं, जो दर्द से तड़पते घायल की मदद के लिए आगे आते हैं और असाधारण बन जाते हैं। ऐसे लोग सड़क पर पड़े उस अनजान से भी मानवता का नाता जोड़ लेते हैं और उन्हें बचाने, वक्त रहते अस्पताल पहुंचाने की कोशिशों में जुट जाते हैं। क्योंकि वे जानते हैं कि सिर से बहते खून को रोककर और एक एक पल का समय बचाकर वे उसकी जिंदगी सहेजने की कोशिश कर रहे हैं। पुलिस कप्तान संतोष सिंह की पहल पर ऐसे ही नेक इंसानों को ढूंढ ढूंढ कर बिलासपुर पुलिस की टीम पुरस्कृत और सम्मानित कर रही है, ताकि उन्हें देखकर लोग प्रेरित हों और सड़क पर लहूलुहान व्यक्ति भीड़ में भी अकेला महसूस न करे। एसपी संतोष सिंह ने उन्हें गुड सेमीरिटर्न की संज्ञा दी है। ऐसे 7 नेक इंसानों को सम्मानित कर उन्होंने कहा – दुर्घटना में घायलों की मदद करने वालों से लोगों को प्रेरणा मिलेगी।

बिलासपुर(theValleygraph.com)। भारत में प्रतिवर्ष सड़क दुर्घटनाओं में लगभग डेढ़ लाख लोगों की मृत्यु होती है, जिसमें विशेष अन्य करण के अलावा घायलों को तत्काल चिकित्सा सुविधा न मिल पाना भी एक होती हैं। इस स्थिति को संज्ञान लेते हुए उच्चतम न्यायालय ने सड़क दुर्घटना में घायलों को त्वरित चिकित्सा उपलब्ध कराने वाले व्यक्तियों को “”गुड सेमीरिटर्न” अर्थात “नेक इंसान” की संज्ञा देते हुए, इन्हें प्रोत्साहित एवं पुरस्कृत करने का आदेश जारी किया है। इस क्रम में मंगलवार को बिलासपुर जिले के 7 “गुड सेमीरिटर्नओं” को पुलिस अधीक्षक कार्यालय बिलासपुर में पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के हाथों सम्मानित एवं पुरस्कृत किया गया।

केस 01

सम्मानित किए गए “गुड सेमीरिटर्न” में थाना सीपत के दीपक पांडे, जिन्होंने होली के दिन दो पहिया वाहन से गिरने पर एक व्यक्ति को स्वयं 108 के माध्यम से अस्पताल दाखिल किया।

केस 02

श्रीमती आरती कश्यप ने 30 सितंबर 2023 को फरहदा चौक के पास ट्रक से एक शिक्षिका के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से घायल महिला को खून से लथपथ हालत में पहले सिम्स और फिर गंभीर स्थिति को देखते हुए,अपोलो अस्पताल में भर्ती कराया।

केस 03

इसी क्रम में ईश्वर यादव ने चकरभाठा बस्ती के पास घायल मोटरसाइकिल चालक को 112 बुलाकर अस्पताल भेजा।

केस 04

29 अक्टूबर 2022 को श्रीमती पायल लाथ द्वारा सड़क दुर्घटना में घायल हुए एक बुजुर्ग व्यक्ति को अपनी कार में लेकर न केवल अस्पताल पहुंचाया, भर्ती कराया और साहस का परिचय दिया।

केस 05

9 फरवरी 2023 को ग्राम रलिया,थाना सीपत अंतर्गत ट्रैक्टर से मोटरसाइकिल के दुर्घटना होने से घायल को 108 में श्रीमती शैल सिदार ने अस्पताल लाकर भर्ती किया।

केस 06

इसी प्रकार मयंक त्रिवेदी थाना चकरभाठा अंतर्गत 11 नवंबर 2022 को ग्राम सेवार तालाब के पास मोटरसाइकिल से घायल होने पर घायल को 112 के माध्यम से अस्पताल भेजने में मदद की।

इस अवसर बिलासपुर पुलिस कप्तान संतोष सिंह ने कहा घायलों की मदद करने वालों के सम्मान से आम लोग भी प्रेरणा लेंगे। दुर्भाग्यवश दुर्घटना हो जाने की स्थिति में हमेशा घायल को तत्काल अस्पताल ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। कार्यक्रम में यातायात बिलासपुर के डीएसपी संजय साहू, सब इंस्पेक्टर उमाशंकर पांडे, आरक्षक रोशन व भुवनेश्वर मरावी भी उपस्थित थे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.