May 19, 2024

आपने पहले नहीं देखा होगा खूबसूरत पर्यटन स्थल दमऊ धारा में भयानक लहरों का ऐसा नजारा

1 min read

देखिए वीडियो…मूसलाधार बारिश से नदी नाले उफान पर आए, बेहिसाब जल राशि से खेत डूबे, कुछ वक्त के लिए गांव भी टापू में तब्दील, लोगों का अंदेशा जिले के सरहदी इलाके में बादल फटने से निर्मित हुए ऐसे हालत।

कोरबा(theValleygraph.com)। पूरे आषाढ़ और सावन में पानी के लिए तरसते खेत शनिवार को पानी में ऐसे डूबे कि किसान एक बार फिर चिंता में पड़ गए। लोगों का कहना है कि मूसलाधार बारिश के बीच बादल फटने से रैन खोल में हालात अचानक ऐसे बदल गए, कि खूबसूरत पर्यटन स्थल दमाऊ धारा में तबाही का मंजर देखने को मिला। कई गांव टापू में बदल गए और खेत-सड़क डूब गए।

24 घंटे से रूक-रूक हो रही भारी बारिश ने जनजीवन अस्त व्यस्त कर दिया है। नदी नाले उफान पर हैं। पुल पुलिया के ऊपर से पानी बह रहा है। जिससे कई गांव टापू में तब्दील हो गए हैं। इसके अलावा जिले के सरहदी इलाके दमऊधारा के रैनखोल में बादल फटने से कई एकड़ खेत जलमग्न हो गए हैं। जलप्रपात ने तांडव मचाया है। हालात को देखते हुए स्थानीय पुलिस प्रशासन को मोर्चा संभालना पड़ा। जिले में लगातार हो रही बारिश के कारण नदी नालों का जल स्तर बढ़ गया है। डूबान क्षेत्रों के घरों में पानी भर गया है। ग्रामीण क्षेत्रों में हालात बेहद बुरे हैं। करतला अंतर्गत छिंदई नदी ऊफान पर है। यहां बने पुल के लगभग चार फीट ऊपर से पानी बह रहा है। यह पुल ग्रामीणों के आने जाने का रास्ता है। दूसरा रास्ता रामपुर करतला है जिससे 20 किलोमीटर अतिरिक्त का फेरा लगाकर गंतव्य तक जाना पड़ रहा है। पुल के दोनों ओर के गांवों का संपर्क कट गया है। बारिश की वजह से कई गांव टापू में तब्दील हो चुके हैं। इसी तरह चुइया ग्राम पंचायत के आश्रित ग्राम मुड़धोवा का मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। परसाखोला से बहने वाली नदी में बारिश के कारण जलस्तर बढ़ गया है। नदी के उफान में होने के कारण पुल नहीं होने से उसे पार करना मुश्किल हो गया है। चारों तरफ से नदी नाला से घिरा गांव टापू बन गया है। इसी तरह अन्य क्षेत्रों में भी बारिश का तांडव देखने को मिला है। जिले के सरहदी ग्राम दमऊधारा के रैनखोल में बादल फटने की घटना सामने आई है। सुबह 6 बजे बादल फटने से जलप्रपात ने तांडव मचाया। जिसका पानी खेतों और घरों में तेजी से समाने लगा। जिसकी सूचना मिलते ही स्थानीय प्रशासन हरकत में आ गया। किसी तरह की जनहानि न हो इसे लेकर प्रभावित क्षेत्रों के लोगों को बाहर निकाला गया। ग्रामीण बताते हैं कि 10 साल पहले भी दमऊधारा में बादल फटने की घटना सामने आई थी। इस समय भी भारी हानि उठानी पड़ी थी।
24 घंटे की बारिश मेें 20 cm बढ़ा बांगो का जल स्तर
पिछले 24 घंटे से रूक-रूक हो रही बारिश से हसदेव मिनीमाता बांगो बांध का जल स्तर बढ़ गया है। एक दिन में ही बांध का जल स्तर 20सेंटीमीटर बढ़ा है। बांगो बांध की कुल जल भराव क्षमता 359.66 मीटर है। लगातार हो रही बारिश से जल स्तर 357 मीटर तक पहुंच चुका है। बांध के लबालब होने में 2.66 मीटर शेष है। अभी बांध में 84.5 प्रतिशत पानी भरा हुआ है। वर्तमान में 5 हजार क्यूसेक पानी बांध से छोड़ा जा रहा है। इसके लिए 40 घंटे हाइडल प्लांट को चलाया जा रहा है।
जल संसाधन विभाग द्वारा बांध के बढ़ते जल स्तर पर नजर रखी जा रही है। डूबान क्षेत्रों को अलर्ट पर रखा गया है।

दर्री बरॉज का गेट खुला, अलर्ट मोड पर रेस्क्यू टीम
लगातार हो रही बारिश से बांगो के साथ ही दर्री बरॉज का जल स्तर भी बढ़ गया है। शनिवार सुबह दर्री बरॉज लबालब हो गया। गेट नंबर 6 को 5 फीट खोलकर पानी डिस्चार्ज करना पड़ा। जिससे नहर और नदी में जलस्तर बढ़ गया है। प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। कोरबा में भी आगे बारिश की संभावना है। जिसे देखते हुए नगर सेना की रेस्क्यू टीम को अलर्ट मोड पर रखा गया है। प्रभावित इलाकों की निगरानी के साथ ही सूचना तंत्र को पुख्ता किया गया है, ताकि जल भराव की स्थिति में तत्काल रेस्क्यू टीम की मदद मुहैया कराई जा सके।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.