May 24, 2024

देश की गति और प्रगति में भारतीय रेल का सदैव महत्वपूर्ण योगदान : जीएम आलोक कुमार

1 min read

दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने 77 वां स्वतंत्रता दिवस पूरी गरिमा के साथ मनाया गया। स्कूल के बच्चो ने आकर्षक एवं भव्य सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किया गया। मेरी माटी मेरा देश के” के अंतर्गत हाथ में मिट्टी लेकर महाप्रबंधक आलोक कुमार ने एनईआई ग्राउंड में सभी को शपथ दिलाई। इस अवसर पर सेंट्रल हॉस्पिटल बिलासपुर में पूर्णत: मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर व “फायर हायड्रेन्ट सिस्टम” का शुभारंभ किया गया।


बिलासपुर(thevalleygraph.com)। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के मुख्यालय सहित सभी मंडलों में 77वें स्वतंत्रता दिवस का उत्सव पूरी गरिमा व परंपरा के अनुसार मनाया गया। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा इस अवसर पर मुख्य कार्यक्रम एन ई. इंस्टीट्यूट ग्राउंड, बिलासपुर में प्रातः 9 बजे आलोक कुमार, महाप्रबंधक, दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य आतिथ्य में आयोजित किया गया।

इस कार्यक्रम में सर्वप्रथम मुख्य अतिथि आलोक कुमार, महाप्रबंधक द्वारा प्रधान मुख्य सुरक्षा आयुक्त मनोहर खुर्शीद की अगुवाई में राष्ट्रीय ध्वज फहराया गया। तद्उपरांत उन्होंने रेल सुरक्षा बल के जवानों, सिविल डिफेन्स एवं सेन्टजांस एम्बुलेंस के द्वारा तैयार किए गए आकर्षक परेड का निरीक्षण किया। मुख्य अतिथि आलोक कुमार ने 77वें स्वतंत्रता दिवस के पावन अवसर पर सभी को हार्दिक बधाई दी। उन्होने कहा कि 15 अगस्त का दिन हम सभी देशवासियों के लिए एक गौरवशाली दिन है। आज का दिन उन सभी अमर शहीदों तथा देशभक्तों को याद करने का दिन है, जिन्होनें आजादी के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। हम सभी अपने कर्तव्यों का पालन और देश के हित में मिलकर कार्य करें, उनके प्रति यही सच्ची श्रद्धांजली होगी ।

देश की गति व प्रगति में भारतीय रेलवे का सदैव महत्वपूर्ण योगदान रहा है। आम जनों को यातायात के सुलभ व किफ़ायती साधन प्रदान करने में भारतीय रेलवे व दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की महत्वपूर्ण भूमिका है। छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र और ओडिशा प्रदेशों में अपनी सेवा प्रदान करता हुआ यह रेलवे अपनी भूमिका का निरंतर उन्नयन कर रहा है ।
हमारे लिए यह गौरव कि बात है कि बिलासपुर, रायपुर व दुर्ग सहित हमारे 9 स्टेशनों के पुनर्विकास का शिलान्यास माननीय प्रधानमंत्री जी के द्वारा 06 अगस्त 2023 किया गया । अमृत भारत स्टेशन स्कीम के अंतर्गत इस रेलवे के 49 रेलवे स्टेशनों का उन्नयन 1868 करोड़ रुपए रुपये की लागत से किया जाएगा । स्टेशनों को विकसित करने का लक्ष्य हमारे रेल यात्रियों को विश्वस्तरीय सुविधाएं और बेहतर यात्रा अनुभव प्रदान करना है ।
इसके अंतर्गत स्टेशन पर उन्नत व आधुनिक सुविधाओं से युक्त वेटिंग हॉल,खान-पान, पीने का पानी की सुविधा के साथ एटीएम, इंटरनेट,वॉशरूम, कवर शेड, स्टैंडर्ड साइनेज आदि शामिल हैं । स्टेशन पर वरिष्ठ नागरिक एवं दिव्याङ्ग जन के अनुकूल सुविधाएं होंगी । स्थानीय कला और संस्कृति को ध्यान में रखते हुए स्टेशन को सिटी सेंटर की तरह विकसित किया जायेगा ।
उन्होने कहा कि हमें गर्व है कि देश कि छठवीं और मध्य भारत कि पहली वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन की शुरुआत 11 दिसम्बर 2022 को माननीय प्रधानमंत्री के द्वारा नागपुर से बिलासपुर के बीच की गई । यात्रियों को और बेहतर सुविधाएं प्रदान करने हेतु टीटीई को हैंड हेल्ड टर्मिनल डिवाइस प्रदान किया गया । इस प्रणाली से ट्रेनों की खाली बर्थ ऑटोमेटिक रूप से यात्रियों को प्राप्त होती है । मोबाइल के माध्यम से यात्रियों को घर बैठे जनरल टिकट प्राप्त करने की सुविधा प्रदान की गई है । गत वर्ष विभिन्न स्टेशनों में 25 नए फुट ओवर ब्रिज, 14 प्लेटफार्म शेल्टर व 17 प्लेटफॉर्म रेजिंग के कार्य किए गए । दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की 19 ट्रेनों में परंपरागत आईसीएफ़ कोच की जगह आरामदायक एलएचबी कोच लगाए गए ।
राष्ट्र की गति और प्रगति के साथ कदमताल करते हुये हमने माल ढुलाई में महत्वपूर्ण उपलब्धियां हासिल की । वित्तीय वर्ष 2022-23 में हमारी रेलवे ने रिकॉर्ड 214 मिलियन टन से अधिक माल ढुलाई किया । यह सब आप सभी रेल कर्मियों के सम्मिलित प्रयासों से ही संभव हो सका है । इसमें आपके परिवारजनों का भी सहयोग शामिल है । इसके लिए आपस भी बधाई के पात्र हैं । इस बार हमें 234 मिलियन टन माल ढुलाई का लक्ष्य मिला है । यद्यपि लक्ष्य कठिन है, लेकिन हम एक साथ मिलकर इस लक्ष्य को प्राप्त करने में भी सफल होंगे ।
बढ़ते हुए ट्रैफिक व भविष्य में अधिक सुविधा प्रदान करने हेतु आधार भूत संरचना के कार्य तीव्रगति से किए जारहे हैं । वित्तीय वर्ष 2022-23 में हमनें 250 किलोमीटर नए सेक्शन के निर्माण के साथ,170 किलोमीटर ऑटो सिग्नलिंग की कमीशनिंग के कार्य को पूरा किया । जबलपुर-गोंदिया, छिंदवाड़ा-मांडला फोर्ट गेज कनवर्ज़न, केवटी–अंतागढ़ नई लाइन, रायपुर-टिटलागढ़ दूसरी लाइन जैसे महत्वपूर्ण कार्य सम्पन्न कर इनमें यात्री ट्रेन सेवाओं की शुरुआत कर दी । नागपुर से बिलासपुर कीसेक्शनल स्पीड बढ़ाकर राजधानीरूट के समकक्ष 130 किलो मीटर प्रति घंटा की जा चुकी है। आधारभूत संरचना को और तीव्र करने के लिए तीनों डिविजन मे गति शक्ति यूनिट की स्थापना की गई है ।
संरक्षित रेल परिचालन हमारी सर्वोच्च प्राथमिकताहै । हमारी रेलवे के सभी 416 एसी कोच में स्मोक डिटेक्शन सिस्टम का प्रावधान किया गया है । एक महत्वपूर्ण परियोजना के अंतर्गत झारसुगुडा से नागपुर मेन लाइनको अत्याधुनिक ऑटोमेटिक ट्रेन प्रोटेक्शन “कवच”के दायरे में लाया जा रहा है । हम सभी को चाहिएकि संरक्षा को अपनी दैनिक कार्य प्रणाली में शामिल करें तथा संरक्षा संबंधी नियमोंका अनुपालन करें । ट्रेन परिचालन में किसी भी प्रकार की शॉर्ट कट का उपयोग न करें
मानव संसाधन संगठन की सबसे बड़ी ताकत होती हैं।गत एक वर्ष में 4,300 से अधिक नये कर्मवीरों की नियुक्ति की गई तथा 3,500 से अधिक कर्मियों का प्रोमोशन किया गया । साथ ही अपने रेल परिवार के 222 आश्रितों की अनुकंपा आधारित नियुक्ति की गई । अपने कर्मियों के 887 बच्चों के बेहतर भविष्य हेतु एक करोड़ रुपये से अधिक की सहायता राशि उच्च शिक्षा के लिए तथा 44 दिव्याङ्ग बच्चों को 19 लाख की राशि प्रदान की गई । अपने कर्मवीरों के स्वास्थ्य व उत्थान हेतु हम हर संभव प्रयास कर रहे हैं । रेलवे परिक्षेत्र में लगभग 90 लाख रुपये की राशि से 12 आउटडोर जिम के इक्यूप्मेंट्स तथा झूलों सहित 09 चिल्ड्रन पार्क बनाए गए हैं । अपने स्टाफ को बेहतर आवासीय सुविधा उपलब्ध कराने हेतु ब्रजराजनगर सहित अन्य स्टेशनों में पिछले एक वर्ष में 197 नए क्वार्टर का निर्माण किया गया ।
पर्यावरण संरक्षण की दिशा में अभूतपूर्व कदम बढ़ाते हुए 28 स्टेशनों में रेन वॉटर हारवेसटिंग्स प्लांट बनाए गए । उसलापुर तथा इतवारी स्टेशनों में वॉटर रिसायक्लिंग्स प्लांट व शहडोल तथा रामटेक स्टेशनों में सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का निर्माण किया गया । रेल मंत्रालय के ज़ीरो कार्बन मिशन के दृष्टिगत भिलाई में 50 मेगा वाट के सोलर पॉवर प्लांट का परीक्षण अंतिम चरण में है । इफ़ीसिएंट इनर्जी मैनेजमेंट सिस्टम के लिए इलेक्ट्रिक लोको शेड बिलासपुर ने ISO 50001: 2011 प्रमाण पत्र प्राप्त किया ।
रेलकर्मियों एवं उनके परिजनों के बेहतर चिकित्सा व सुविधा के लिए सेंट्रल हॉस्पिटल बिलासपुर में बड़े पैमाने पर कार्य किए गए हैं । ऑपरेशन थिएटर को संक्रमण रहित करने के लिए इसे पूर्णतः मॉड्यूलर बनाया गया है । हास्पिटल में बेहतर हाइजीन हेतु विभिन्न दिनों में अलग अलग 3 कलर की लिनन का प्रावधान किया गया है । मरीजों के परिजनों के लिए डॉरमेंट्री की व्यवस्था की गई है । बायोमेडिकल वेस्ट के प्रबंधन के लिए बार कोडिंग सिस्टम अपनाया गया है । फायर सेफ़्टी मीजर के तहत फायर हायड्रेन्ट सिस्टम का प्रावधान किया गया है । रायपुर तथा बिलासपुर हॉस्पिटल्स में इन हाउस कीमोथेरेपी तथा डायलिसिस का प्रावधान किया गया है । मरीजों के बेहतर इलाज, जाँच व परीक्षण के लिए नए डिजिटल उपकरण की व्यवस्था की गई है ।
उन्होने कहा कि हमारे रेलवे सुरक्षा बल ने अपने परिवार से बिछुड़े 413 बच्चों को रेसक्यू कर उनके परिवारजनों से मिलाया । मानव तस्करी के शिकार 04 बच्चों को तस्करों से मुक्त कराया । ऑपरेशन उपलब्ध के तहत 309 यात्रियों के गुम हुये 92 लाख से अधिक मूल्य के सामान को यात्रियों को सौंपा । प्लेटफ़ॉर्म पर प्रतीक्षारत अकेली महिलाओं के लिए ‘अक्षिता’ एक सेफ बबल का प्रावधान किया गया । बिना किसी अतिरिक्त लागत के निर्मित यह सेफ बबल महिलाओं के बीच काफी लोकप्रिय है तथा अन्य रेलवे भी इसका अनुकरण कर रहीं हैं । महिलाओं की यात्रा को और सुरक्षित बनाने के लिए “मेरी सहेली” अभियान, तेजस्विनी ग्रुप का सफल क्रियान्यवयन करा जा रहा है । रेल सुरक्षा बल के महिला सदस्यों के लिए 11 नए बैरक का निर्माण किया जा रहा है।
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के खिलाड़ियों ने राष्ट्रीय तथा अंतराष्ट्रीयस्तर पर अच्छा प्रदर्शन किया है । हमें गर्व है कि हमारी एथलीट दीक्षा का 800 मीटर की रेस में एशिया में नंबर वन रैंकिंग है । कॉमन वेल्थ पावर लिफ्टिंग में जे रामालक्ष्मी ने स्वर्ण व संतोषी मांझी ने रजत, वर्ल्ड रेलवे क्रॉस कंट्री में दिनेश ने स्वर्ण व मुन्नी देवी ने कांस्य तथा एशिया कप में मधु वेदवान ने तीरंदाजी में रजत पदक जीता । हमारी रेलवे की क्रिकेट, खो–खो, बॉक्सिंग व हैंडबॉल टीम ने राष्ट्रीय स्तर पर अच्छा प्रदर्शन किया है । मैं उन सबको भविष्य में और बेहतर प्रदर्शन के लिए शुभकामनायें देता हूँ ।
उन्होने दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे महिला कल्याण संगठन की अध्यक्षा व उनके सदस्याओं का आभार व्यक्त किया । रेल कर्मचारियों व उनके परिवार के कल्याण, महिलाओं तथा बच्चों के उत्थान, आदि मानवीय कार्य में इनकी महत्वपूर्ण भूमिका है । रेल परिवार की महिला परिजनों को आत्म-निर्भर बनाने के लिए हाल में ही ब्यूटिशियन कोर्स शुरू किया गया है । कामकाजी महिलाओं के बच्चों के लिए किलकारी क्रेच का उन्नयन किया गया है । हमारे सिविल डिफेंस, स्काउट एण्ड गाइड तथा सेंटजॉन एम्बुलेंस के वॉलंटियर्स किसी भी आपद स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहते हैं, मैं उनको धन्यवाद देता हूँ ।
उन्होने यूनियन व संघों के पदाधिकारियों और सदस्यों को उनके बहुमूल्य सुझावों तथा सहयोग के लिए धन्यवाद देता हूं, जो हमारे कार्य निष्पादन में लगातार सहायक रहे हैं । सभी यूनियन के पदाधिकारी एवं कर्मचारी सौहार्द पूर्ण कार्य वातावरण बनाएं रखने के लिए बधाई के पात्र हैं। साथ ही साथ मैं प्रिंट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को भी धन्यवाद देता हूं जिनकी सक्रियता एवं सहभागिता के कारण हमें अपने कार्यो में सुधार हेतु सहयोग प्राप्त होते रहते हैं ।
मेरी माटी मेरा देश के” के अंतर्गत हाथ में मिट्टी लेकर महाप्रबंधक ने एनईआई ग्राउंड में सभी को शपथ दिलाई । इस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर रेलवे स्कूल के बच्चो के द्वारा फेंसी ड्रेस कार्यक्रम का आयोजन किया गया । साथ ही साथ देश भक्ति गीत पर आकर्षक प्रस्तुत दी गयी । बच्चो ने अनेक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए गए है ।

आज इस अवसर पर सेंट्रल हॉस्पिटल बिलासपुर में पूर्णत: मॉड्यूलर ऑपरेशन थिएटर व फायर हायड्रेट सिस्टम।का शुभारंभ दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे महिला कल्याणकारी संगठन कि अध्यक्षा. डॉ श्रीमती वनिता जैन के द्वारा किया गया । इसके साथ ही सेंट्रल हॉस्पिटल में फायर सेफ़्टी मशीन के लिए फायर हायड्रेट सिस्टम का शुभारंभ आलोक कुमार, महाप्रबंधक के द्वारा किया गया। इस अवसर पर अन्त में उन्होनें रेल कर्मचारियों, उनके परिवार एवं उपस्थित बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना की। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे द्वारा स्वतंत्रता दिवस समारोह गरिमापूर्वक सभी मंडलो, फील्ड कार्यालयो एवं वर्कशापों में मनाया गया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.