May 24, 2024

आज की जरूरत और कल की परिकल्पनाओं के अनुरूप अपडेट होगा मड़वारानी स्टेशन, सिगनलिंग प्रणाली सरल होने से ट्रैक पर रैक का दबाव कम करने मिलेगी मदद

1 min read

मड़वारानी रेलवे स्टेशन में विकसित होगे नए इंफ्रास्ट्रक्चर सुविधाएं, यार्ड में अतिरिक्त लूप लाइन के लिए पैनल इंटरलाकिंग व सिग्नलिंग के कार्य।

कोरबा(thevalleygraph.com)। मड़वारानी रेलवे स्टेशन को आज की जरूरत और भविष्य की परिकल्पनाओं के अनुरूप ढालने की तैयारी शुरू हो गई है। इस स्टेशन के यार्ड में अतिरिक्त लूप लाइन के लिए पैनल इंटरलाकिंग, सिग्नलिंग व अन्य कार्य किए जाएंगे। करीब सात करोड़ की नई संरचनाएं विकसित करते हुए सिग्नलिंग प्रणाली सरल बनाकर ट्रेनों के लिए रूट क्लीयर करने में मिलेगी। स्टेशन अपडेट के इन कार्यों के रास्ते आगामी समय के लिए भी पर्याप्त संसाधनों के विकास की राह खुलेगी।
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे बिलासपुर मंडल के अधीन मड़वारानी स्टेशन कोरबा-चांपा के बीच अवस्थित है। इस स्टेशन को अपग्रेड करने की दिशा में नए कार्य कराए जाने की तैयारी शुरू हो गई है। मंडल के उप मुख्य सिग्नल एवं दूरसंचार इंजीनियर द्वारा इस काम के लिए 7 करोड़ 31 लाख 98 हजार 247 रुपए 75 पैसे का टेंडर जारी किया गया। इस तरह यहां करीब 8 करोड़ 48 लाख रुपए का काम होने वाला है। निर्माण की राशि से ही तय है कि रेलवे प्रशासन मड़वारानी स्टेशन को अपग्रेड करने की दिशा में तेजी से काम कर रहा है। फिलहाल ये काम पूर्ण होने के बाद रेल यातायात में आने वाले अवरोध कम हो जाएंगे। वहीं कोरबा रेलवे स्टेशन में मालगाड़ी का दबाव भी घट जाएगा। जो मालगाड़ी यहां खड़ी होती हैं उन्हें मड़वारानी भेजा जाएगा जहां से आधुनिक सिग्नल प्रणाली का उपयोग करते हुए संबंधित प्लांट को कोयला भेजा जाएगा। इसकी गति भी बढ़ जाएगी। उम्मीद की जा रही है कि नए संरचनाओं को विकसित कर स्टेशन को अपडेट व अपग्रेड करने के इन कार्यों से भविष्य की संभावनाओं को बल मिलेगा।

सिगनलिंग प्रणाली सरल तो गुड्स ट्रेनों का रास्ता क्लीयर
इस कार्य में सिगनलिंग को सरल करना एक महत्वपूर्ण प्रबंध होगा, जिससे गुड्स ट्रेनों के आने-जाने की राह आसान बनेगी। इसे चलते लाइन का दबाव घटेगा और इसके साथ ही लाइन व्यस्त होने के कारण यात्री ट्रेनों को यदा-कदा रोकने की समस्या से भी राहत की राह मिल सकेगी। अप व डाउन दिशा की मालगाड़ियों को अक्सर यहां रोकना पड़ता है। सिग्नलिंग प्रणाली को सरल बनाकर इनका रूट क्लीयर कराने के साथ अप व डाउन लूप लाइन में मालगाड़ी को रोकने अलग स्थान मिल जाएगा। लूप लाइन का काम बीते सप्ताह ही कराने रेलवे द्वारा टेंडर जारी किया गया था। अब नया काम जो होना है उसके लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

1.16 करोड़ का अतिरिक्त लूप लाइन पहले ही मंजूर
मड़वारानी स्टेशन में अप व डाउन अतिरिक्त लूप लाइन की मंजूरी पहले ही मिल गई है। इसके लिए 1 करोड़ 16 लाख 3 हजार 681 रुपए का काम कराने के ई-टेंडर भी जारी हो चुका है। एक साल में यह काम अनुबंधित ठेकेदार को पूरा करना होगा। अभी मड़वारानी में 4 ट्रेक है दो लूप लाइट ट्रेक बनने से 6 हो जाएंगे। पैनल इंटरलाकिंग के प्रतिस्थापन को डिस्ट्रीब्यूटेड इलेक्ट्रानिक इंटरलाकिंग और अन्य सिग्नलिंग व्यवस्था से जुड़े कार्य की पूर्णता पर रेल यातायात काफी सुगम हो जाएगा। यहां यार्ड में वहीं मालगाड़ी रुकेंगी जिनका आगे रूट क्लीयर नहीं होगा। इससे यात्री ट्रेनों का रास्ता साफ हो जाएगा। यात्रियों की परेशानी कम हो जाएगी।

बेसिक इंफ्रास्ट्रक्चर का विकास, बढ़ेंगे संसाधन
कोरबा रेलखंड के अंतर्गत भी इस परियोजना के अंतर्गत मल्टीट्रेकिंग कार्य होंगे। मड़वारानी-सरगबुंदिया के मध्य तीसरी लाइन के बिछने से आधारभूत संरचनाओं को गति मिलेगी। इससे लाइन की क्षमता में भी वृद्धि होगी। इस तीसरी लाइन के विस्तार के अलावा अमृत योजना के तहत कोरबा रेलवे स्टेशन को भी विकसित किया जा रहा है। इनमें रेल परिसर की सड़कों को चौड़ा करने, अवांछित संरचनाओं को हटाने, उचित रूप से डिजाइन किए गए साइनेज, समर्पित पैदल मार्ग, सुनियोजित पार्किंग क्षेत्र, बेहतर प्रकाश व्यवस्था आदि को सुचारू पहुंच सुनिश्चित करने के लिए स्टेशन के दृष्टिकोण में सुधार किया जाएगा। स्टेशन के आसपास के विकास को उपयुक्त रूप से नियंत्रित किया जाएंगे।
———-


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.