April 22, 2024

विधानसभा चुनाव-2023 के मद्देनजर ट्रेन व स्टेशन में हर संदिग्ध हरकत पर अब हाईटेक कैमरे की नजर

1 min read

RPF & CG Police की बढ़ी जिम्मेदारी, विस चुनाव 2023 को लेकर बिलासपुर आईजी अजय कुमार यादव ने समीक्षा बैठक में दिए निर्देश, आरपीएफ के समन्वय से जिला पुलिस की चौकसी, फेस रेकग्निशन सर्वर प्रणाली से लैस सीसीटीवी की मदद लेने के निर्देश

कोरबा(thevalleygraph.com)। विधानसभा चुनाव-2023 के मद्देनजर हर संदिग्ध हलचल पर चौकस नजर रखने व आपराधिक गतिविधियों को रोकने के सभी संभव इंतजाम पर फोकस किया जा रहा है। चुनाव को दृष्टिगत रखते हुए रेलवे स्टेशन व यात्री ट्रेनों के माध्यम से होने वाले मादक पदार्थों व नशे की अन्य सामगियों की जांच के लिए रेलवे सुरक्षा बल और जिला पुलिस बल को समन्वय स्थापित कर संयुक्त चेकिंग अभियान चलाने के निर्देश दिए गए हैं। हाईटेक कैमरों से ट्रेन और स्टेशन की हर हरकत पर निगाह रखने के पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने कहा गया है। हरदम व्यस्त रहने वाले स्टेशन में सतत व अचूक निगरानी के लिए फेस रेकग्निशन सर्वर प्रणाली से लैस सीसीटीवी कैमरे स्थापित करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

बीते दिनों बिलासपुर रेंज अंतर्गत आने वाले रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा व्यवस्था, अपराधियों की धरपकड़ कर कार्यवाही के लिए रेलवे सुरक्षा बल, शासकीय रेल पुलिस, रेंज के रेलवे लाइन से जुड़े कोरबा समेत अन्य जिलों के अधिकारियों की त्रैमासिक समन्वय बैठक आयोजित की गई थी। इसमें एफआरएस तकनीक के हाईटेक सीसीटीवी कैमरे बड़े स्टेशनों के साथ-साथ छोटे स्टेशनों के प्रमुख स्थानों पर स्थापित करने के निर्देश दिए गए हैं। इस कार्यवाही में जिला पुलिस बल से समन्वय बनाकर आवश्यक कार्यवाही करने के लिए वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त रेलवे सुरक्षा बल को निर्देशित किया गया। इस बैठक में पुलिस अधीक्षक कोरबा जितेन्द्र शुक्ला ने भी जिले का प्रतिनिधित्व करते हुए मौजूदगी दर्ज कराई। आसन्न विधानसभा निर्वाचन-2023 को ध्यान में रखते रेलवे सुरक्षा बल, शासकीय रेल पुलिस व जिला पुलिस बल को संयुक्त चेकिंग अभियान चलाकर रेलवे के माध्यम से होने वाले मादक पदार्थों की तस्करी इत्यादि के विरूद्ध कार्यवाही करने निर्देशित किया गया। वर्तमान में चल रहे त्योहारी सीजन को देखते हुए रेलवे सुरक्षा बल व जिला पुलिस बल से समन्वय स्थापित कर रेलवे परिक्षेत्रों में अवांछित गतिविधियों को रोकने के लिए बीडीएस टीम के माध्यम से भी चेकिंग कराने व रेलवे क्षेत्र में घटित अपराध और अपराधियों की जानकारियां नियमित आपस में साझा करने के निर्देश दिए गए। साथ ही समय-समय पर जिला पुलिस बल के साथ समन्वय स्थापित करते हुए मॉक-ड्रिक भी आयोजित करने के लिए भी निर्देशित किया गया है।

जरूरत हो तो भेजे जाएं जीआरपी थाना-चौकी शुरू करने के प्रस्ताव
इस बैठक में रेलवे स्टेशन में यात्रियों की बढ़ती संख्या तथा आवागमन को देखते हुए नए जीआरपी थाना-चौकी खोले जाने संबंधी समुचित प्रस्ताव तैयार कर पुलिस मुख्यालय को प्रेषित करने संबंधी निर्देश दिए। सर्वप्रथम बैठक में पुलिस महानिरीक्षक ने वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त, रेलवे सुरक्षा बल, पुलिस अधीक्षक(रेल) व रेंज के जिलों द्वारा प्रस्तुत जानकारी की समीक्षा की। इनमें अन्य जिलों समेत कोरबा रेलवे स्टेशनों की सुरक्षा व्यवस्था व घटित अपराधों की रोकथाम के संबंध में विभिन्न निर्देश दिए गए।
बाक्स
अपराधी की जानकारी साझा करेंगे आरपीएफ व पुलिस

इस बैठक में इस बात पर भी फोकस किया गया कि विभिन्न आपराधिक मामलों में वारदात के बाद रेल मार्ग से फरार होने वाले, रेल संपत्तियों में चोरी या अन्य मामले या किसी भी तरह के अपराध में लिप्त अपराधियों की जानकारी भी समय-समय पर आरपीएफ अपनी जानकारी जिला पुलिस के साथ साझा करें। रेलवे स्टेशन के वाहन पार्किंग में वर्षों से पड़े लावारिस वाहनों की बात भी फोकस की गई। अफसरों से कहा गया है कि ऐसे वाहनों पर नियमानुसार निराकरण के लिए स्थानीय पुलिस से समन्वय स्थापित कर कार्यवाही किए जाएं। रेलवे स्टेशन की पार्किंग मेंं लावारिस खड़े वाहनों की जब्ती कर विधिवत नीलामी की कार्यवाही की जाएगी। रेलवे सुरक्षा बल के साथ समय-समय पर समन्वित कार्यवाही करते हुए चोरी की प्रापर्टी की जांच के दौरान रेलवे स्टेशनों में खड़े वाहनों की जांच रेंडमली कर लिए जाने संबंधी निर्देश दिए गए हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.