April 25, 2024

चुनावी रण में अध्यक्ष के उम्मीदवार अब्दुल रहमान ने चलाया उम्मीदों का ब्रह्मास्त्र, कहा- जीते तो नए साथियों को प्रतिमाह 3000, स्वयं का मकान बनाने दिलवाएंगे रियायती जमीन

1 min read

अदालत के गलियारों में सारा-सारा दिन खटने के बाद भी घर-परिवार और खासकर बच्चों के अच्छे भविष्य की जुगत एक बड़ा मसला है, जो अधिवक्ता बंधुओं को कल की फिक्र और आज की चुनौतियों के बीच जूझने को विवश कर देता है। इनमें परिवार के लिए अपना घर, आर्थिक क्षमता के अनुरूप बच्चों का अच्छे स्कूल में दाखिला जैसे विषय शामिल हैं। इसके अलावा वकालत में करियर का शुभारंभ करने वाले युवा वकीलों के लिए शुरुआत में कम से कम प्रतिदिन के न्यूनतम खर्च की जुगत मिल सके, यह बड़ी फिक्र भी होती है। कुछ ऐसे ही बातों पर फोकस करते हुए जिला अधिवक्ता संघ कोरबा के चुनाव में अध्यक्ष पद के लिए कड़ा मुकाबला पेश कर रहे अधिवक्ता अब्दुल रहमान ने अपने प्रतिस्पर्धियों को चारों खाने चित्त करते हुए घोषणा पत्र का ब्रह्मास्त्र चलाया है।

कोरबा(theValleygtaph.com)। अध्यक्ष पद के उम्मीदवार अब्दुल रहमान के इस घोषणा पत्र में अधिवक्ता बंधुओं के आज और कल से जुड़ी इसी तरह के दस खास जरूरतों को सूचीबद्ध किया गया है। इनमें नवीन अधिवक्ता साथियों के लिए दो साल तक प्रतिमाह 3000 का सहयोग, खुद के घर के लिए रियायती दर पर आवासीय जमीन समेत दस मुद्दे हैं, जिन्हें उन्होंने अपने चुनावी घोषणा पत्र में शामिल कर जीतने पर पूरा करने का वादा किया है। आइए देखते हैं कि अध्यक्ष प्रत्याशी अब्दुल रहमान के दस के दम किन दस बातों को शामिल किया गया है, जो अगर धरातल पर लाया जा सके तो अधिवक्ता बंधुओं के जीवन चुनौतियां काफी हद तक आसान बनाई जा सकती हैं…

‼️ *घोषणा पत्र*‼️
1. *आवासहीन अधिवक्ताओं को रियायती दरों पर भूखंड आबंटित करवाना*

2. *अधिवक्ता एवं उनके परिजनों हेतु मृत्यु बीमा के साथ स्वास्थ्य बीमा का लाभ*

3. *प्रत्येक नवीन पंजीकृत अधिवक्ता को रु. 3000/- मासिक सहायता राशि बार में पंजीयन से दो साल तक दिया जायेगा।*

4. *प्रत्येक समरी ट्रायल मामले में वकालत नामा की अनिवार्यता रहेगी। प्राकृतिक आपदा के मामलों में वकील की अनिवार्यता, रजिस्ट्री पंजीयन में वकील की अनिवार्यता*

5. *अधिवक्ता भवन के भीतर टाइपिंग, फोटो कॉपी मशीन रेस्टोरेंट के लिये दिवंगत अधिवक्ता के परिजनों को प्राथमिकता अन्यथा की स्थिति में संघ से जुड़े अधिवक्ता के परिवार को आबंटन, दिवंगत अधिवक्ता के परिवार को रोजगार का साधन उपलब्ध करवाया जायेगा*

6. *संघ की लाइब्रेरी में संसोधित अधिनियम, लेटेस्ट जजमेंट, उपलब्ध करवाया जायेगा साथ ही ऑनलाइन न्याय दृष्टांत का पैकेज लाइब्रेरी में उपलब्ध करवाया जायेगा, प्रत्येक दैनिक समाचार पत्र लाइब्रेरी में निशुल्क उपलब्ध*

7. *हाईकोर्ट सुप्रीम कोर्ट से जजेस एवं वरिष्ठ अधिवक्ताओं को आमंत्रित कर सेमिनार/ ट्रेनिंग कार्यक्रम करवाया जायेगा, जिससे हमारे संघ की कीर्ति दूर दूर तक फैलेगी*

8. *अधिवक्ताओं की सुरक्षा का भी पूरा ख्याल रखा जायेगा अनुशासन समिति का गठन किया जायेगा। किसी भी अधिवक्ता के विरुद्ध बगैर संघ को सूचना दिये प्रथम सूचना रिपोर्ट (प्राथमिकी) दर्ज ना हो इसकी व्यवस्था की रहेगी*

9. *भ्रष्टाचार निवारण समिति का गठन किया जायेगा जिससे राजस्व विभाग में अधिकारी/बाबू अधिवक्ता को परेशान ना कर सकें*
10. *अधिवक्ताओं के बच्चों हेतु स्कूलों में प्राथमिकता के आधार पर रियायती दरों पर प्रवेश*

अध्यक्ष पद की चेयर हासिल करने चुनाव मैदान में उतरे चार खिलाड़ियों में अधिवक्ता अब्दुल रहमान, अधिवक्ता धनेश कुमार सिंह, अधिवक्ता गणेश कुलदीप व अधिवक्ता सुधीर कुमार निगम शामिल हैं। इसी तरह सचिव पद पर भी चार प्रतिस्पर्धी चुनावी रण में हैं। इनमें नूतन सिंह ठाकुर, प्रशांत कुमार धुर्य, रघुनन्दन सिंह ठाकुर और सुनील यादव के बीच घमासान मुकाबले देखने को मिलेंगे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.