December 8, 2023

कोरबा की जनता ने ठाना है..जयसिंह को फिर विधायक बनाना है..और लखन को निपटाना है

1 min read

कोरबा। लोग जनता को भ्रमित करने का प्रयास करते हैं। झूठ के दम पर पानी के बुलबुले पैदा करते हैं। लेकिन वह भूल जाते हैं की जनता सब देख रही है। इस चुनाव में अराजक तत्वों की सारी गलतफहमियां दूर होने वाली हैं। जनता ने ठान लिया है कि कोरबा में विकास की गंगा बहाने वाले जन-जन के जननायक, हितैषी और विकास पुरुष जयसिंह अग्रवाल को चौथी बार विधायक बनाकर छत्तीसगढ़ के विधानसभा में भेजना है। ताकि क्षेत्र के विकास में कोई बढ़ा न आये। लखनलाल जैसे चुनाव हारने के बाद पलायन कर कोरबा आए भाजपा प्रत्याशी को जनता वापस कटघोरा भेजेगी। लोगों ने यह निश्चय कर लिया है कि इस बार के चुनाव में अराजक और सामाजिक तत्वों का साथ बिल्कुल नहीं देंगे। सच के साथ खड़े रहेंगे और अपने आने वाले बेहतर भविष्य के लिए विकास पुरुष और काम करवाने का क्षमता रखने वाले जयसिंह अग्रवाल को वोट करेंगे।

सभी झूठ की खुल चुकी है पोल 

अपराधिक पृष्ठभूमि के लोग और विकास विरोधी के चेहरे अब बेनकाब हो चुके हैं। उनके द्वारा जो झूठ फैकया गया था। उसकी सारी कलई खुल चुकी है। सोशल मीडिया के माध्यम से जो भी दुष्प्रचार किया गया वह सब झूठा साबित हुआ।
राख परिवहन का ठेका कभी भी मंत्री के रिश्तेदारों को नहीं मिला। बल्कि लखनलाल के भाई ने पार्षद नरेंद्र ने पत्र लिखकर कोहड़िया में राख डंप कराया। नरेंद्र द्वारा लिखा गया पत्र सोशल मीडिया में वायरल भी हुआ था।

जबकि इसमें मंत्री का नाम घसीटा गया जो केवल एक झूठ है। इनके पास ऐसा कोई प्रमाण नहीं है। केवल झूठ बोलकर लोगों को गुमराह किया गया।
एक लड़की का वीडियो वायरल किया गया था। लेकिन उससे जयसिंह की आमने-सामने कभी भी कोई बात नहीं हुई। करोड़ों के बंगले की तस्वीर वायरल की गई लेकिन इस बंगले से जयसिंह अग्रवाल का कोई वास्ता नहीं है। कहीं की भी तस्वीर निकालकर इसे जयसिंह का बंगला बताया गया। जो कि सिर्फ और सिर्फ झूठ है। गरीबों को उनका हक दिलाने वाले आबादी पट्टे का भी दुष्प्रचार किया गया। जबकि भाजपा की सरकार 15 साल रही गरीबों को कभी भी उनका अधिकार नहीं मिला। जनहित के काम का भी दुष्प्रचार किया गया, जो भाजपाइयों और अराज तत्वों के विकास विरोधी विचारधारा का सूचक है। इतना ही नहीं धर्म के नाम पर भी लोगों को बरगलाया गया। चर्च के पादरी को भी बदनाम किया गया। जबकि पूरा मसीही समाज सामने आया और कहा की पादरी विक्टर मेनन ने कभी भी किसी को ना धमकी दी ना धक्के मार कर बाहर निकालना है। ऐसी कोई बात नहीं हुई है। यह झूठ भी लोगों के सामने आ गया। मुसलमानों को स्वर्ण सिटी में एंट्री नहीं मिलने की बात भी फैलाई गई। लेकिन बीती रात ही स्वर्ण सिटी में रहने वाले दो मुस्लिम परिवारों ने ही पत्र लिखकर इस बात का खंडन कर दिया। जनता के सामने ये झूठ भी पूरी तरह से बेनकाब हो गया।

चुनाव में नोट कौन बांट रहा है। यह भी जनता के सामने है। भाजपा का प्रत्याशी 11.50 लख रुपए नगद राशि के साथ पकड़ा जा चुका है। लखनलाल के घर में पुलिस ने छापा मारा। नोट के बदले वोट की राजनीति भाजपाई कर रहे हैं। आदिवासियों को भी बरगलाकर उनसे बुलवाया गया, जबकि आदिवासियों को कभी भी कोई धमकी नहीं दी गई। इंटक के संगठन को लेकर भी झूठ फैलाया गया। जबकि इंटक हो या अन्य मजदूर यूनियन सभी जय सिंह अग्रवाल के साथ हैं। उनका सम्मान करते हैं। नगर निगम के नियमितीकरण और भवन निर्माण अनुमति को लेकर भी अनर्गल आरोप लगाया गया। जबकि इसका कोई प्रमाण मौजूद नहीं है। हमेशा नियमानुसार काम किया जाता है। बल्कि लोगों को इसमें रियायत ही मिली है। कांग्रेस के सत्ता में आने के बाद कई तरह के कर में लोगों को छूट मिली है।
₹10 का टोकन बांटने का भी एक झूठ फैलाया गया। जबकि ऐसी ऐसा कोई 10 का नोट किसी को भी बांटा गया है। सिर्फ और सिर्फ झूठ के सहारे लोगों को गुमराह करने का प्रयास किया गया। इस तरह के सारे झूठ का पर्दाफाश हो चुका है। जनता सब समझ चुकी है और उन्होंने मन बना लिया है की जयसिंह को ही चौथी बार विधायक बनाना है।

खुद जेल गए और आपराधिक लोगों से कराई चुनाव कैंपेनिंग

भाजपा के प्रत्याशी लखनलाल पर आदिवासियों के उत्पीड़न, महिला से मारपीट का अपराध दर्ज है।
ठरकीपने के किस्से मशहूर हैं। जिसके लिए वह जेल में भी रह चुके हैं। उन्हें जेल जाना पड़ा था। उनके आपराधिक पृष्ठभूमि का प्रमाण आज भी मौजूद है। इसलिए लखनलाल अपने पूरे चुनाव कैंपेनिंग में आपराधिक पृष्ठभूमि के लोगों से ही साथ लेते रहे हैं। लखन का चुनाव प्रचार ऐसे लोग कर रहे हैं। जो भू माफिया हैं, जेल जा चुके हैं और असामाजिक और अराजक तत्व हैं। पूरे चुनाव में गुंडे, बदमाशों ने लखन की चुनाव कैंपेनिंग की है। सिर्फ झूठ और गुंडागर्दी करके वह चुनाव जीत लेने की गलतफहमी में हैं। जय सिंह अग्रवाल को बदनाम करने का प्रयास किया, पोस्टर फ़ाड़े, भ्रामक पोस्टर भी लगवाए। लेकिन यह सारे हथकंडे आज धरे के धरे रह जाएंगे। जनता ईवीएम में एक नंबर का बटन दबाकर जयसिंह अग्रवाल को विजयी बनाएगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.