March 4, 2024

मास्टर ट्रेनर्स ने लिखा:- निर्वाचन में RO से लेकर ग्रेड- 4 तक सबको मानदेय मिला, पर हमें कभी नहीं, ऐसा क्यों…

1 min read

विधानसभा निर्वाचन 2023:- पिछले दो माह से निष्ठापूर्वक चुनाव ड्यूटी के दायित्व निभा रहे मास्टर ट्रेनर्स ने मांगा मानदेय। मतगणना प्रशिक्षण के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी को सौंपा ज्ञापन। उन्होंने कहा कि निर्वाचन में रिटर्निंग अधिकारी से लेकर चतुर्थ वर्ग कर्मचारी तक सभी को मानदेय मिलता है पर मास्टर ट्रेनर्स को कभी भी मानदेय नहीं दिया जाता। मास्टर ट्रेनर्स ने जिला निर्वाचन अधिकारी से शीघ्र मानदेय देने की कार्यवाही करने आग्रह किया है।

कोरबा(theValleygraph.com)। विधानसभा निर्वाचन 2023 का बिगुल बजते ही गाइड लाइन समझने और समझाने की ड्यूटी में जुट गए मास्टर ट्रेनर्स अब मतगणना के फाइनल रिहर्सल में भिड़ गए हैं। इस बीच अन्य सभी कर्मियों को चुनाव ड्यूटी का मेहनताना मिल जाने पर उनका मानदेय अब तक जारी नहीं होने से उनमें थोड़ी हताशा है। शनिवार को मतगणना प्रशिक्षण के दौरान उनकी पीड़ा जाहिर हो गई। मास्टर ट्रेनर्स ने जिला निर्वाचन अधिकारी को ज्ञापन सौंपकर अपने मानदेय का भुगतान किए जाने की मांग रखी है।

विधानसभा चुनाव 2023 अंतर्गत मतदान के बाद अब मतगणना की महत्वपूर्ण प्रक्रिया का सभी को इंतजार है। अब जिला प्रशासन ने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी है। शनिवार को ही विधानसभा निर्वाचन अंतर्गत मतगणना के लिए गणना पर्यवेक्षक, गणना सहायकों प्रशिक्षण आयोजित किया गया था। यह मतगणना प्रशिक्षण दोपहर 2 बजे से शाम 5 बजे तक शासकीय इंजीनियर विश्वेश्वरैया स्नातकोत्तर महाविद्यालय (ईवीपीजी) में आयोजित किया गया था। इस दौरान जिले के चारों विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र रामपुर, कोरबा, कटघोरा, पाली तानाखार के सभी मास्टर ट्रेनर्स ने जिला निर्वाचन अधिकारी को अपने मानदेय से संबंधित ज्ञापन सौंपा। निर्वाचन में संलग्न मास्टर ट्रेनर्स को मानदेय प्रदान करने के संबंध में प्रस्तुत ज्ञापन में उन्होंने लिखा है कि विभिन्न माध्यमों से यह सूचना मिली है कि विधानसभा निर्वाचन 2023 में संलग्न अधिकारियों व कर्मचारियों को मानदेय प्रदान किया जा चुका है। विधानसभा निर्वाचन 2023 में जिले की 4 विधानसभा के लिए प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र के लिए 22 समेत लगभग 88 मास्टर ट्रेनर्स की नियुक्ति की गई थी। मास्टर ट्रेनर्स विगत 2 माह से निर्वाचन संबंधी कार्यों में मतदान दलों को प्रशिक्षण, ईव्हीएम की कमीशनिंग, मतदान के लिए सामग्री वितरण और वापसी के कार्य में संलग्न रहे हैं। इन बातों से अवगत कराते हुए उन्होंने अनुरोध किया है कि विधानसभा निर्वाचन 2023 में संलग्न मास्टर ट्रेनर्स को भी उनका मानदेय शीघ्र जारी किया जाए।

रिटर्निग अफसर से चतुर्थ वर्ग तक सबको मिला, तो हमें क्यों नहीं

मास्टर ट्रेनर्स ने यह भी कहा कि जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा विधानसभा निर्वाचन 2023 में संलग्न समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों को मानदेय प्रदान किया गया है। पर मास्टर ट्रेनर्स को किसी तरह का मानदेय नहीं दिया गया है। विधानसभा निर्वाचन 2023 के लिए जिले की 4 विधानसभा हेतु लगभग 88 मास्टर ट्रेनर्स जिला निर्वाचन कार्यालय द्वारा बनाए गए थे। सभी मास्टर ट्रेनर्स विगत दो माह से निर्वाचन सम्बन्धी कार्यो में सलंग्न रहे है। निर्वाचन में रिटर्निंग अधिकारी से लेकर चतुर्थ वर्ग कर्मचारी तक सभी को मानदेय मिलता है पर मास्टर ट्रेनर्स को कभी भी मानदेय नहीं दिया जाता। मास्टर ट्रेनर्स ने जिला निर्वाचन अधिकारी से शीघ्र मानदेय देने की कार्यवाही करने आग्रह किया है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.