March 4, 2024

लोगों की पॉकिट से निकल झारखंड-ओडिशा महाराष्ट्र पहुंच गए थे सेलफोन, पुलिस ने वापस जेब तक पहुंचाए 15 लाख के मोबाइल

1 min read

अर्पण अभियान:- बिलासपुर पुलिस की मुहिम आपकी एक आस, आपकी अमानत आपके पास के तहत लगातार की जा रही कोशिशों का सुखद परिणाम आज लोगों को मिल ही गया। हाट-बाजार, दुकान-दफ्तर और चाट समोसे के ठेले से लेकर भीड़ वाले अनेक स्थानों में लोगों के मोबाइल फोन गुम हो गए। पॉकिट से निकले उनके मोबाइल फोन झारखंड, ओडिशा और महाराष्ट्र तक पहुंच गए थे। पर साइबर एक्सपर्ट की तकनीकी मदद और अपने डटे रहने के कौशल से बिलासपुर जिले की पुलिस टीम ने 15 लाख के कुल 80 नग मोबाइल फोन बरामद कर उन्हें उनके असली मालिक की जेब में वापस पहुंचाने में कामयाबी हासिल की है। अर्पण अभियान चलाते हुए वर्ष 2023 में गुम 500 गुम मोबाईल रिकवर कर वापस किए गए थे, जिनकी कुल कीमत एक करोड़ थी।

बिलासपुर(theValleygraph.com)। जिले के विभिन्न थाना क्षेत्रो में मोबाईल गुमने की शिकायत को गम्भीरता से लेते हुये पुलिस अधीक्षक बिलासपुर श्री संतोष कुमार सिंह (भा.पु.से.) द्वारा गुम मोबाईल तलाश कर संबंधीतो को वापस करने के निर्देश दिये गये हेै। निर्देश के पालन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (शहर) श्री राजेन्द्र कुमार जायसवाल, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) श्रीमती अर्चना झा, नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाईन श्री संदीप पटेल (भा.पु.से.) नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली सुश्री पूजा कुमार (भा.पु.से.) के निर्देशन में ए.सी.सी.यू. बिलासपुर के अधिकारी कर्मचारियों द्वारा खोज अभियान चलाकर छत्तीसगढ के विभिन्न जिलो सहित झारखण्ड, ओडिशा एवं महराष्ट्र से कुल 80 नग मोबाईल बरामद किया गया जिसें आज दिनाॅक 12.12.23 को पुलिस अधीक्षक श्री संतोष सिह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक राजेन्द्र जायसवाल एवं नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाईन श्री संदीप पटेल द्वारा मोबाईल धारको को वापस प्रदान किया गया है। वापस किये गये मोबाईल की कीमत लगभग 15 लाख रू है।

33 हजार का फोन वापस मिला, एसपी संतोष सिंह और पुलिस टीम का आभार: अधिवक्ता गिरीश

गुमे हुए मोबाईल फोन वापस पाने की आस छोड चुके व्यक्तियो को जब उनका मोबाईल वापस किया गया तो वे लोग काफी खुश हुई और बिलासपुर पुलिस के इस अभियान की सराहना करते हुए पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह सहित सभी अधिकारी कर्मचारीयों के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया गया। गुमा हुआ मोबाईल प्राप्त करने वाले अधिवक्ता गिरीश साहू ने बताया कि उनका मोबाईल वन प्लस कंपनी का था जिसे 33 हजार रू में खरीदा था जो करीब 4 माह पहले गुम गया था गुम हुए मोबाईल के खोज के लिए सायबर सेल बिलासपुर में आवेदन दिया था, उन्हें पूरा विश्वास था कि बिलासपुर पुलिस मोबाईल खोजकर उन्हें वापस करेगी। आज मोबाइल वापस मिलने पर उनका विश्वास पुलिस के प्रति और बढ गया है।

इसी प्रकार सागर पहाडीया, वी. चन्द्रशेखर, नीरज साहू, अशोक दास, सिद्धार्थ यादव, श्रीमती शिलबानो, श्रीमती गौरी यादव, फरदीन खान, श्रीमती संगीता कुशवाहा, तोखन चंद्राकर, श्रीमती विद्या नायर सहित उपस्थित सभी लोगों ने सायबर सेल बिलासपुर एवं बिलासपुर पुलिस का आभार व्यक्त किया है।

सेक्सटार्सन, ठगी के इन गोरख धंधों में होता है इस्तेमाल: SI प्रभाकर
कार्यक्रम के दौरान सायबर एक्सपर्ट उप निरीक्षक प्रभाकर तिवारी द्वारा वर्तमान में प्रचलित सायबर ठगी के नए प्रारूप सेक्सटार्सन (वीडियो काॅलिंग के माध्यम से), वाॅट्सएप की डीपी बदलकर ठगी करने, बिटकाॅईन, टुरिजम प्लाॅन के नाम पर, कस्टमर केयर के नाम पर, ऑनलाईन लोन एप व अन्य तरीको से किये जाने वाले अद्यतन ठगी के बारे में जानकारी एवं बचने के उपाय साझा किए गए।

पुलिस अफसर-कर्मियों की इस खोजी टीम ने निभाई अहम भूमिका

गुम हुए मोबाईल खोज अभियान में ए.सी.सी.यू. बिलासपुर प्रभारी उप निरीक्षक कृष्णा साहू, उप निरीक्षक प्रभाकर तिवारी, स.उ.नि. सोमनाथ यादव प्र.आर. देवमुन पुहुप, बलबीर सिहं, आरक्षक तरूण केशरवानी, विरेन्द्र गंधर्व, निखील राॅव, प्रशांत सिंह, प्रशांत राठौर, तदबीर सिंह, सत्या पाटले, सरफराज खान, विकास राम, मुकेश वर्मा, राकेश बंजारे, सतीश भारद्वाज, नवीन एक्का, सकुन्तला साहु व ए.सी.सी.यू. की सम्पूर्ण टीम की महत्वपुर्ण भूमिका रही। उल्लेखनीय है कि बिलासपुर पुलिस द्वारा वर्ष 2023 में गुम हुए 500 मोबाईल संबंधित मोबाईल मालिकों को वापस किया गया है, जिसका अनुमानित मुल्य लगभग 1 एक करोड़ रुपए है। गुम हुए मोबाईल की खोज का अभियान लगातार जारी रहेगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.