March 4, 2024

CM विष्णुदेव ने वादा निभाया, 26 हजार किसान बने धनवान, खाते में आया 52.13 करोड़ का सम्मान

1 min read

Video:- मुख्य अतिथि रहे कैबिनेट मंत्री लखनलाल देवांगन ने प्रमाण-पत्र प्रदान कर दी शुभकामनाएं, सुशासन दिवस पर सीएम साय ने पीएम मोदी की गारंटी पूरी कर निभाया अपना वादा, वर्ष 2014-15 व 2015-16 की धान बोनस की बकाया एकमुश्त राशि हुई अंतरित।

कोरबा(theValleygraph.com)। पूर्व प्रधानमंत्री व भारत रत्न स्व अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिन पर राष्ट्रीय सुशासन दिवस मनाया गया। इस अवसर पर किसानों को धान बोनस दिए जाने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की गारंटी को पूरा किया गया। प्रदेश सरकार ने सोमवार को राज्य के किसानों को दो साल के धान की बकाया बोनस राशि का वितरण किया। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने राजधानी रायपुर के ग्राम बेंद्री (अभनपुर) में आयोजित कार्यक्रम व वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले भर के किसानों को खरीफ विपणन वर्ष 2014-15 एवं 2015-16 के न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उपार्जित धान के लंबित बोनस राशि जारी की। जिले के धान बेचने वाले कुल 25 हजार 956 पंजीकृत किसानों को 300 रूपए प्रति क्विंटल के दर से 52 करोड़ 13 लाख 790 रूपये की राशि का अंतरण डीबीटी के माध्यम से किया गया।

इस वादे के तहत वर्ष 2014-15 के 13879 कृषकों को 27 करोड़ 51 लाख 43 हजार 500 व 2015-16 के 12077 कृषकों को 24 करोड़ 61 लाख 57 हजार 290 रूपए बोनस राशि के रूप में प्रदान किया गया। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने इस मौके पर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश के किसानों से सीधा संवाद भी किया। धान बोनस वितरण समारोह में मुख्यमंत्री श्री साय ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जय जवान जय किसान का नारा देकर किसानों को प्रोत्साहित किया। उन्होंने 25 दिसंबर को छत्तीसगढ़ के निर्माता भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के जन्म दिवस पर सुशासन दिवस और 2 साल के धान बोनस वितरण समारोह पर किसानों को बधाई दी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के किसानों से हमने वादा किया था कि छत्तीसगढ़ में सरकार बनते ही 2 साल का बकाया बोनस हम किसानों को देंगे। मुझे बहुत खुशी हो रही है कि आज 12 लाख से ज्यादा किसानों को 3716 करोड़ रुपए ट्रांसफर कर दिया है। राज्य के किसानों का विश्वास छत्तीसगढ़ की सरकार और प्रधानमंत्री श्री मोदी पर बढ़ा है। मुख्यमंत्री श्री साय ने कहा कि हमारी सरकार हर वर्ग का ध्यान रखने वाली सरकार है। उन्होंने कहा कि हमने किसानों के हित में निर्णय लिया और 3100 रुपए प्रति क्विंटल धान खरीदने का वादा किया है, उसे भी हम जल्द पूरा करेंगे। छत्तीसगढ़ सरकार ने 21 क्विंटल प्रति एकड़ धान की खरीदी की भी व्यवस्था की है, हम किसानों से उनका पूरा धान खरीदेंगे और जरूरत पड़ने पर समय सीमा भी बढ़ाएंगे।

आज ऐतिहासिक दिन है: कैबिनेट मंत्री लखन

विकासखण्ड कटघोरा के कृषि मण्डी में आयोजित धान बोनस राशि वितरण के जिला स्तरीय समारोह में कैबिनेट मंत्री लखन लाल देवांगन मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। साथ ही विधायक कटघोरा प्रेमचंद पटेल, कलेक्टर सौरभ कुमार, अपर कलेक्टर प्रदीप साहू, एसडीएम सुश्री रिचा सिंह, जिला खाद्य अधिकारी जेके सिंह, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक कोरबा के नोडल अधिकारी सुशील जोशी अन्य अधिकारी कर्मचारी सहित स्थानीय जनप्रतिनिधिगण, वरिष्ठ नागरिक और बड़ी संख्या में लाभार्थी उपस्थित थे। मुख्य अतिथि श्री देवांगन सहित अन्य जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों ने पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी बाजपेयी की छाया चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलन कर उनके योगदान को स्मरण किया। कैबिनेट मंत्री श्री देवांगन ने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज ऐतिहासिक दिन है। भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री एवं छत्तीसगढ़ राज्य के निर्माता स्व. श्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन सुशासन दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की घोषणानुरूप आज मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय के द्वारा किसानों को धान के बकाया बोनस राशि का वितरण किया गया। उन्होंने सभी किसानों को बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी की गारंटी के तहत किये गए सारे वादे आने वाले सालों में पूरे किए जाएंगे। यह प्रधानमंत्री की सकारात्मक सोच का सार्थक परिणाम है कि अन्नदाता किसानों को उनकी मेहनत का प्रतिफल आज दिया जा रहा है। साथ ही 3100 रुपये समर्थन मूल्य पर 21 क्विन्टल प्रति एकड़ की दर से धान खरीदी की जाएगी। श्री देवांगन ने देश सहित प्रदेश के विकास में सुशासन की उपयोगिता समझाते हुए जिले वासियों से सुशासन संकल्प को अपने जीवन मे अपनाकर जिले के समृद्धि एवं विकास में अपना सहयोग प्रदान करने का आग्रह किया। विधायक कटघोरा प्रेमचंद पटेल ने जिले के किसानों को शुभकामनाएं देते हुए कहा कि दो साल के बोनस का एकमुश्त वितरण आज किसानों के खातों में किया गया है। जिससे किसानो के चेहरे में मुस्कान छाई है। उन्होंने कहा कि किसानों को आज वितरित किया जा रहा बोनस मोदी की गारण्टी का ही सुखद परिणाम है जिसे प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री साय द्वारा मूर्तरूप दिया गया।

किसानों के जीवन में समृद्धि, आत्मनिर्भरता और खुशहाली: कलेक्टर सौरभ कुमार

कलेक्टर सौरभ कुमार ने कार्यक्रम में सभी जिलेवासियों को धान बोनस वितरण व सुशासन दिवस की बधाई दी। उन्होंने कहा कि इससे किसानों के जीवन में समृद्धि, आत्मनिर्भरता और खुशहाली आएगी। जिले के ग्राम पंचायतों में भी व्यापक सफाई अभियान चलाया गया तथा अटल चौक की साफ सफाई और रंग रोगन कर स्थानीय जनप्रतिनिधि व ग्रामीणों द्वारा अटल बिहारी वाजपेयी के छायाचित्र पर माल्यार्पण कर उनका योगदान स्मरण किया गया। उन्होंने कहा कि सुशासन लाने के लिए प्रशासन और आमजनों का आपसी सहयोग से कार्य करना आवश्यक है। इस हेतु उन्होंने आमजनों से जिले में सुशासन की संकल्पना पूरा करने में सहयोग की अपील की है।

मंत्री लखन और MLA प्रेम ने तराजू में धान से तौला
इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री व विधायक कटघोरा श्री पटेल को तराजू में धान से तौला गया। इस दौरान कार्यक्रम में उपस्थित अतिथियों द्वारा किसानों को प्रतीकात्मक रूप से धान बोनस का प्रमाण पत्र प्रदान कर शुभकामनाएं दी गई। जिसमें बिंझकोट के लम्बोदर को 5 लाख 81 हजार 400 रूपए, छुरीकला के वरुण प्रताप को 3 लाख 69 हजार 600 रुपए, रंजना के टंकेश्वर प्रसाद को 1 लाख 89 हजार 600 रूपए, ग्राम मूढाली के संतोष सिंह को 1 लाख 37 हजार 40 रुपए, जवाली की श्रीमती उमादेवी को 91080 रूपए, घुचापुर के रामगोपाल को 88 हजार 680 रूपए व महेशपुर के नोहर सिंह को 68 हजार 520 रूपए धान बोनस का प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। इसी प्रकार बीज निगम अंतर्गत ग्राम सेन्द्रिपाली के भागीरथी साहू को 78 हजार 570 रूपए, ग्राम केरवाद्वारी के करमसिंह को 60 हजार 075 रूपए,  ग्राम तुमान के बिहारी लाल को 35 हजार 100 रूपए तथा ग्राम सिंघिया के छत्तर सिंह को 17 हजार 415 रूपए बीज बोनस का प्रमाण पत्र प्रदान किया गया। इसी तरह जिले के अन्य विकासखंडों में भी खण्डस्तरीय कार्यक्रम आयोजित कर स्थानीय जनप्रतिनिधियों एवं गणमान्य लोगों द्वारा हितग्राही किसानों को धान उत्पादन प्रोत्साहन राशि का प्रमाण पत्र भी प्रदान किया गया। नोडल कॉपरेटिव बैंक से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले की 27 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों व 41 धान उपार्जन केंद्रों के माध्यम से खरीफ विपणन वर्ष 2014-15 में 13 हजार 879 पंजीकृत किसानों से 09 लाख 17 हजार 145 क्विंटल धान की खरीदी की गई थी। जिसका 300 रूपए प्रति क्विंटल की दर से 27 करोड़ 51 लाख 43 हजार 500 रूपए की बोनस राशि उनके खाते में अंतरित की गई है। इसी प्रकार खरीफ विपणन वर्ष 2015-16 में 12 हजार 77 किसानों से 08 लाख 20 हजार 524.30 क्विंटल धान के एवज में 24 करोड़ 61 लाख 57 हजार 290 रुपए की बोनस राशि का भुगतान किया गया। इस प्रकार जिले के कुल 25 हजार 956 किसानों को 52 करोड़ 13 लाख 790 रूपये की बोनस राशि डीबीटी के माध्यम से उनके बैंक खातों में अंतरित की जा रही है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.