April 25, 2024

जबरन लगाया रंग, शहर की शांति व्यवस्था हुई भंग तो बख्शे नहीं जाएंगे हुड़दंगी, आचार संहिता एक्टिव है, पालन करें …पर्व और त्यौहारों में Political रंग न भरें

1 min read

प्रशासन व पुलिस ने की रंगों का त्योहार होली, ईद, गुड फ्राइडे एवं रामनवमी शांति और सौहार्दपूर्ण मनाए जाने की गुजारिश की। गुरुवार को कलेक्ट्रेट में जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक आयोजित की गई, जिसमें त्योहारों पर शांति व्यवस्था बनाए रखने जरुरी दिशा निर्देश से अवगत कराया गया। साथ ही हुड़दंग मचाने वालों को चेतावनी भी दी गई है कि अगर नियम टूटे तो शहर की शांति व्यवस्था में मिलावट करने वाले बख्शे नहीं जाएंगे। कलेक्टर अजीत वसंत ने कहा कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जिले में आदर्श आचार संहिता प्रभावशील है। इस के साथ ही धारा 144 लागू है। किसी भी पर्व को राजनैतिक रूप से ना मनाया जाए।

कोरबा(theValleygraph.com)। जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक गुरूवार को कलेक्टोरेट सभा कक्ष में कलेक्टर अजीत वसंत के निर्देशन व अपर कलेक्टर दिनेश कुमार नाग, अनुपम तिवारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक यू. बी. एस. चौहान तथा समिति के सदस्य की उपस्थिति में आयोजित हुई। बैठक में कोरबा जिले के परंपरा अनुरूप शांति एवं सौहार्द पूर्ण तरीके से होली पर्व, ईद-उल-फितर, रामनवमी तथा गुड फ्राइडे मनाने की अपील की गई। इस दौरान कहा गया कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर आचार संहिता प्रभावशील होने के साथ ही धारा 144 लागू है। किसी भी पर्व को राजनैतिक रूप से ना मनाया जाए। सभी प्रकार के आयोजनों तथा रैली, जुलुस, डीजे के लिए संबंधित एसडीएम से अनुमति अनिवार्य रूप से लिया जाए। होली में हर्बल रंगों का उपयोग करने के साथ ही अनावश्यक किसी पर रंग ना डाला जाए। उपद्रव, हुल्लड़बाजी, जबरन रंग डालने वालों, सड़क पर होलिका दहन करने वालों एवं तीन सवारी वाहन चलाने वालों, मुखौटा लगाकर हुटिंग करने वालों पर निगरानी रखने के साथ ही कड़ी कार्यवाही की जाए।
कलेक्टोरेट सभा कक्ष में आयोजित बैठक में शांति समिति के सदस्यों ने होली त्यौहार मिल-जुल कर और सदभाव के साथ मनाने का निर्णय लिया। अपर कलेक्टर ने कहा कि यह पर्व आपसी भाईचारे का है। उन्होंने इन सभी पर्वों को शांतिपूर्वक और सुरक्षित रूप से मनाने के लिए जिलेवासियों से सहयोग की भी अपेक्षा की है। इस बैठक में समाज प्रमुख, गणमान्य नागरिक और अधिकारीगण शामिल हुए।
बैठक में बताया गया कि 24 मार्च को होलिका दहन खुले स्थानों पर ही किया जा सकेगा। बिजली के ट्रांसफार्मरों और तारों के नीचे होलिका दहन नहीं करने के निर्देश दिए। शांति समिति की बैठक में किसी भी अप्रिय घटना को रोकने के लिए पुलिस विभाग को लगातार पेट्रोलिंग की व्यवस्था करने के निर्देश दिए। दमकल एवं आपातकालीन चिकित्सा व्यवस्था को चौकन्ना एवं मुस्तैद रहने के निर्देश दिए। चिन्हांकित स्थानों पर अतिरिक्त पुलिस बल की व्यवस्था करने को कहा गया है। त्योहारों के दौरान किसी भी अप्रिय घटना की सूचना पुलिस कंट्रोल रूम में देने की भी अपील आमजनों से की गई है। होली पर अवैध चंदा वसूली करने वालो, शराब पीकर हुडदंग करने वालों, जबरन रंग-गुलाल लगाने वालों, महिलाओं पर छिंटाकशी व अभद्र टिप्पणी करने वालो तथा सोशल मीडिया पर भ्रामक प्रचार करने वालों पर भी कड़ी कार्यवाही की जाएगी। बैठक में प्रशासन द्वारा कहा गया है कि होलिका पर्व के दौरान किसी भी तरह से लोग एक दूसरे को रंग व गुलाल लगाने में जबरदस्ती न करें। एक दूसरे के प्रति सहयोगात्मक रवैया रखें, एक-दूसरे का सम्मान करें तथा पर्व सौहार्द से मनायें। सोशल मीडिया पर भ्रामक संदेश के कारण माहौल न बिगड़े इसके लिए वे स्वयं भी तत्परता दिखाते हुए अपनी जिम्मेदारी निभाएं और पुलिस व प्रशासन को इसकी तत्काल सूचना दें ताकि कानून व्यवस्था कायम रखा जा सके। बैठक में रात्रि 10 बजे से सुबह 6 बजे तक लाउडस्पीकर, डीजे का उपयोग नहीं करने के निर्देश दिए गए। शोभायात्रा निकालने के पूर्व रूट चार्ट तथा शामिल होने वालों की संभावित संख्या उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए। होली के दिन पानी आपूर्ति की समय सीमा 1 घंटा अधिक समय तक रखने तथा विद्युत व्यवस्था बनाए रखने की मांग की गई। बैठक में शांति समिति के सदस्यों से अपील की गई कि सभी समुदाय अपने पर्व, त्यौहार को आपस में मिलजुल कर और सौहार्दपूर्ण तरीके से मनाएं। जिला प्रशासन का सहयोग निरंतर बना रहेगा।
बैठक में एसडीएम श्रीकांत वर्मा, रूचि शार्दुल, डिप्टी कलेक्टर तुलाराम भारद्वाज, गौतम सिंह, सीएसपी व अन्य अधिकारियों के अलावा विभिन्न समाज के पदाधिकारी व शांति समिति के सदस्य उपस्थित रहे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.