June 21, 2024

एक अच्छा शिक्षक हमेशा सीखने की जिज्ञासा रखता है और वह अपने विद्यार्थियों से भी निरंतर सीखता है -:- डॉ. तारा शर्मा

1 min read

देखिए विडियो…शिक्षक दिवस पर शासकीय मिनीमाता कन्या महाविद्यालय, कोरबा की कला संकाय की छात्राओं ने महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापकों का स्वागत कर बड़े हर्षोल्लास के साथ शिक्षक दिवस मनाया।

कोरबा(theValleygraph.com)। शिक्षक समाज के नेतृत्व का कार्य संभालते हैं। उनकी प्रेरणा, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व्यवस्था का संचालन करने की क्षमता और छात्राओं के प्रगति में लगाव की क्षमता के कारण ही देश विकास के पथ पर अग्रसर होता है। एक अच्छा शिक्षक हमेशा सीखने की जिज्ञासा रखता है और वह अपने विद्यार्थियों से भी निरंतर सीखता है।

यह प्रेरक बातें शिक्षक दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए शासकीय मिनिमाता कन्या महाविद्यालय की प्रभारी प्राचार्य डॉ तारा शर्मा ने कहीं। शिक्षक दिवस एक ऐसा अवसर है जब शिक्षकों का समाज के प्रति अनमोल योगदान को मान्यता और सम्मान दिया जाता है। यह दिवस शिक्षा का महत्व और समाज में शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका की याद दिलाता है। इस अवसर पर महाविद्यालय की कला संकाय की छात्राओं द्वारा आयोजित विशेष कार्यक्रम की मुख्य अतिथि महाविद्यालय की प्रभारी प्राचार्य डॉ. तारा शर्मा ने छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि शिक्षक समाज के नेतृत्व का कार्य संभालते हैं। उनकी प्रेरणा, गुणवत्तापूर्ण शिक्षा व्यवस्था का संचालन करने की क्षमता और छात्राओं के प्रगति में लगाव की क्षमता के कारण ही देश विकास के पथ पर अग्रसर होता है। उन्होंने आगे कहा की एक अच्छा शिक्षक हमेशा सीखने की जिज्ञासा रखता है और वह अपने विद्यार्थियों से भी निरंतर सीखता है। इस अवसर पर बी.ए. अंतिम की छात्रा रूपाली और प्रकाशनी तंवर ने अपने उद्गार व्यक्त किए। कार्यक्रम में डॉ. विनोद कुमार साहू, विभागाध्यक्ष राजनीति विज्ञान, शासकीय मिनी माता कन्या महाविद्यालय ने भी अपने विचार रखे। पूर्णिमा ने पूरे कार्यक्रम का सफलता पूर्वक संचालन किया। रेणुका केसरी, गीतांजलि, गीतान्या आदि का सक्रिय योगदान रहा।

देश के विकास का गुरुभार शिक्षकों के कंधों पर होता है:- डॉ. डेज़ी कुजूर
इस अवसर पर महाविद्यालय की हिन्दी विभाग की सहायक प्राध्यापक डॉ. डेज़ी कुजूर ने कहा कि शिक्षक दिवस ऐसा अवसर है जब हम हमारे शिक्षकों के प्रति कृतज्ञता और आभार व्यक्त कर उनके समर्पण और परिश्रम को सम्मानित करते हैं। देश के विकास का गुरुभार शिक्षकों के कंधों पर होता है, उससे ही समाज को नयी दिशा मिलती है।शिक्षक प्रत्येक दिन विद्यार्थियों के भीतर ज्ञान और संस्कार की ज्योत जलाते हैं ताकि समाज को, देश को एक बेहतर नागरिक दें सकें।
महाविद्यालय के राजनीति विज्ञान के सहायक अध्यापक डॉ. विनोद कुमार साहू ने कहा कि शिक्षा समाज के विकास के लिए महत्वपूर्ण है। इससे नए विचारों, विकास के अवसरों, मानवीय मूल्यों के प्रति संवेदनशीलता और ज्ञान की पहचान करने का ज्ञान प्रदान करती है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.