May 24, 2024

राजस्व मंत्री ने एमडी डिस्ट्रीब्यूशन को भेजी चिट्ठी, लिखा- एमपी बोर्ड के चेयरमैन ने कहा था कि कोरबा विद्युत उत्पादन का प्रमुख केद्र है, बिजली कटौती की परेशानी से मुक्त रखा जाएगा, आप भी ठोस कदम उठाएं

1 min read

छत्तीसगढ़ के राजस्व मंत्री व कोरबा विधायक जयसिंह अग्रवाल ने कोरबा अंचल में निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने एमडी डिस्ट्रीब्यूशन को लिखा पत्र, पत्र में लिखा- विद्युत उत्पादन में कोरबा की इकाइयां अव्वल तो बिजली की कटौती के मामले में कोरबा के लोग ही सबसे अधिक पीड़ित
कोरबा(thevalleygraph.com)। प्रदेश के राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कोरबा अंचल में बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित कराने हेतु छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत वितरण कम्पनी के एमडी मनोज खरे को चिट्ठी भेजी है। उन्होंने 43 साल पुराने वादे को याद दिलाते हुए लिखा है कि वर्ष 1980 में जब श्री अग्रवाल छात्र जीवन में कोरबा के प्रथम शासकीय हायर सेकेण्ड्री स्कूल में छात्र कल्याण परिषद के अध्यक्ष थे, कोरबा अंचल में की जा रही व्यापक पैमाने पर बिजली कटौती के मुद्दे को तत्कालीन मध्य प्रदेश विद्युत मंडल के चेयरमैन के समक्ष उठाया था। तब उन्होंने कहा था कि राज्य में कोरबा विद्युत उत्पादन का प्रमुख केंद्र है, इसलिए बिजली कटौती की समस्या से मुक्त रखा जाना कोरबा का हक है। कोरबा अंचल में विद्युत आपूर्ति की लचर व्यवस्था पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए राजस्व मंत्री ने लिखा है कि समूचे देश में एक तरफ कोरबा में स्थापित राज्य की विद्युत उत्पादन इकाईयों को सर्वश्रेष्ठता का खिताब मिला है, तो दूसरी तरफ बिजली की कटौती के मामले में सबसे अधिक कोरबा अंचल के लोग ही पीड़ित हैं। इस पीड़ा को दूर करने जल्द से जल्द ठोस कदम उठाएं।

प्रबंध निदेशक विद्युत वितरण को लिखे पत्र में राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने कोरबा अंचल में विद्युत आपूर्ति की लचर व्यवस्था पर कड़ी नाराजगी जाहिर करते हुए लिखा है कि प्रदेश में कोरबा विद्युत उत्पादन का प्रमुख केन्द्र है। समूचे देश में एक तरफ कोरबा में स्थापित राज्य की विद्युत उत्पादन इकाईयों को सर्वश्रेष्ठता का खिताब मिला है, तो दूसरी तरफ बिजली की कटौती के मामले में सबसे अधिक कोरबा अंचल के लोग ही पीड़ित हैं। पत्र में इस बात का जिक्र विशेष तौर पर किया गया है कि कोरबा में आए दिन किसी न किसी समस्या के चलते लम्बे समय तक बिजली कटौती होती रहती है जिससे व्यावसायिक प्रतिष्ठानों के साथ ही अनेक लघु उत्पादन इकाईयों सहित विद्यार्थियों और आम नागरिकों को भारी असुविधा का सामना करने के साथ ही बड़े पैमाने पर नुकसान भी उठाना पड़ रहा है। राजस्व मंत्री ने पत्र में एमडी डिस्ट्रीब्यूशन को आगाह करते हुए लिखा है कि कोरबा अंचल में आए दिन की जा रही बिजली कटौती से आम नागरिकों में भारी आक्रोश व्याप्त है जिसे तत्काल सुधारने की आवश्यकता है। पत्र में आगे लिखा गया है कि यदि कोरबा अंचल के लिए निर्बाध विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित करने की दिशा में आ रही कठिनाइयों को दूर करने के लिए शीघ्र ही कोई ठोस कदम नहीं उठाए जाते हैं तो जनाक्रोश कभी भी विस्फोटक रूप लेकर जन आन्दोलन में परिवर्तित हो सकता है जिसकी सम्पूर्ण जवाबदारी स्वयं उनकी और उनके वितरण विभाग की होगी।

एमपी बोर्ड के विखंडन तक बिजली कटौती की गंभीर समस्या से अछूते रहे कोरबा के लोग : जयसिंह
राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल ने पत्र में लिखा है कि वर्ष 1980 में छात्र जीवन में जब वे कोरबा के प्रथम शासकीय हायर सेकेण्ड्री स्कूल में छात्र कल्याण परिषद के अध्यक्ष थे, उस समय कोरबा अंचल में की जा रही व्यापक पैमाने पर बिजली कटौती के मुद्दे को तत्कालीन मध्य प्रदेश विद्युत मण्डल के चेयरमैन के समक्ष कोरबावासियों की समस्याओं को रखा था। उनके द्वारा सकारात्मक रूख अपनाते हुए आश्वस्त किया गया था, कि कोरबा चूंकि राज्य में बिजली उत्पादन का प्रमुख केन्द्र है और इसके लिए कोरबावासियों को पूरा हक है कि उन्हें बिजली कटौती की परेशानियों से मुक्त रखा जाए। उन्होंने विश्वास दिलाया था, कि कोरबा में असामान्य परिस्थितियों को छोड़कर सामान्य तौर पर बिजली कटौती नहीं की जाएगी। कोरबावासी इस बात के साक्षी हैं कि मध्य प्रदेश विद्युत मण्डल का विखंडन होने तक कोरबा अंचल के लोग बिजली कटौती की गंभीर समस्या से अछूते रहे।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.