May 24, 2024

बेटियों की सेहत बिगाड़ रहे मासिक धर्म और इससे संबंधित व्यवहारों में सामाजिक व सांस्कृतिक अवरोध

1 min read

शासकीय मिनीमाता कन्या महाविद्यालय में एनएसएस व यूथ रेडक्रास सोसायटी का महावारी स्वच्छता व स्वास्थ्य चेतना कार्यक्रम.
कोरबा(thevalleygraph.com)। शासकीय मिनीमाता कन्या महाविद्यालय, कोरबा के राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई व यूथ रेडक्रास सोसायटी के संयुक्त तत्वाधान में महावारी स्वच्छता व स्वास्थ्य चेतना जागरूकता पर विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर पर माला निषाद जिला प्रभारी व श्रीमती कुसुम मरकाम, ब्लॉक कोआॅर्डिनेटर आईआईएफ चैरिटेबल ट्रस्ट, कोरबा उपस्थित हुए। महाविद्यालय के प्राचार्य व एनएसएस के संरक्षक डॉ. राजेंद्र सिंह ने आज के जीवन शैली में ढली युवतियों के गिरते स्वास्थ्य के प्रति चिंता जताते हुए इस विशेष कार्यक्रम का आयोजन महाविद्यालय की छात्राओं के लिए किया। महाविद्यालय की एनएसएस कार्यक्रम अधिकारी डॉ. डेजी कुजूर ने कार्यक्रम के आयोजन के उद्देश्य के संबंध में कहा कि छात्राएं अपने स्वास्थ्य के प्रति सचेत नहीं है। इस लापरवाही और अज्ञानता के कारण वे अपने जीवन को जोखिम में डाल रहीं हैं। छात्राओं के स्वस्थ भविष्य के लिए ऐसे कार्यक्रम के आयोजन की बेहद आवश्यकता है। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के तौर पर उपस्थित माला निषाद, जिला प्रभारी आईआईएफ चैरिटेबल ट्रस्ट ने छात्राओं को माहवारी के दौरान स्वच्छता के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि मासिक धर्म और इससे संबंधित व्यवहारों में आज भी कई सामाजिक और सांस्कृतिक अवरोध हैं, जिसका दुष्प्रभाव किशोरियों व युवतियों के स्वास्थ्य पर पड़ता है। इस दौरान स्वच्छ तौर तरीके अपनाने और साफ सफाई का ध्यान न रखने के कारण कई गंभीर बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। मासिक धर्म के दौरान व्यक्तिगत साफ सफाई व स्वच्छता के प्रबंधन की जानकारी होना आवश्यक है। श्रीमती कुसुम मरकाम, ब्लॉक संयोजक आईआईएफ चैरिटेबल ट्रस्ट ने मासिक धर्म के दौरान अस्वच्छता से होने वाली गंभीर बीमारियों के संबंध में जानकारी देते हुए कहा कि पीरियड्स के दौरान अस्वच्छ तौर तरीके अपनाने से प्रजनन मार्ग के संक्रमण आरटीआई का जोखिम बढ़ जाता है। इससे माहवारी संक्रमण, सफेद पानी, खुजली, लाल चकत्ते, जलन, गर्भाशय में सूजन, बार-बार पेशाब का जाना, कुपोषण आदि जैसे गंभीर समस्याओं से लड़कियों को जूझना पड़ता है। शर्म और झिझक के कारण वे किसी को बताती नहीं है और इन बीमारियों को झेलती रहती हैं। कार्यक्रम के अगले चरण में छात्राओं ने अपने स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं की चर्चा विशेषज्ञों से बेझिझक की। अंत में महाविद्यालय के यूथ रेड क्रॉस सोसाइटी के प्रभारी प्रकाश साहू ने आमंत्रित अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर टस्ट की क्लस्टर श्रीमती रजनी मिश्रा, श्रीमती रमा, श्रीमती विमला कंवर, श्रीमती माधुरी घुव व श्रीमती मोना ध्रुव उपस्थित हुए। साथ ही महाविद्यालय के गृह विज्ञान की सहायक प्राध्यापक श्रीमती मोनिका मिंज व क्रीड़ा अधिकारी अनिमा तिर्की विशेष रूप से उपस्थित हुए। कार्यक्रम को सफल बनाने में एन.एस.एस. की स्वयंसेवीका तुलसी, मंजूला, नेहा, रेश्मा साहू, जानकी, तमन्ना, रोशनी उपाध्याय, देवंतिका आदि का सक्रिय योगदान रहा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.