May 24, 2024

करवा चौथ स्पेशल:- अभी बाकी है 7 घंटे का इंतजार, तब जाकर होगा चांद को चांद का दीदार

1 min read

पर्व में कारोबार:- सजने-संवरने की बात हो, तो महिलाओं के लिए करवा चौथ से बड़ा मौका भला और क्या हो सकता है। ऐसे में गहने और कपड़ों के बाजार में भी रौनक होना भी लाजमी है। ‍इस बार भी इस खास मौके के लिए कोरबा के सराफा और कपड़ा मार्केट में बहार देखी जा सकती है। सराफा बाजार में जहां ऑन डिमांड ट्रेडिशनल गहनों की एक से एक कारीगरी रखी गई है तो कपड़ा बाजार भी मौजूदा ट्रेंड के मुताबिक खूबसूरत साड़ियों और परंपरागत परिधानों के रेडीमेड वर्जन के साथ ग्राहकों के स्वागत को नैना बिछाए इंतजार कर रहा है।

कोरबा(theVallaygraph.com)। करवा चौथ पर आज सुबह से सुहागनों ने व्रत रखा हुआ है। वे शाम को चंद्रमा की पूजा के बाद अपना व्रत पूरा करेंगी। शाम 7 बजे से रात करीब 9 बजे तक देशभर में चंद्रमा के दर्शन किए जा सकेंगे। चांद का दीदार पूर्व उत्तर दिशा के मध्य हो सकेगा। विद्वानों का कहना है कि मौसम की गड़बड़ी के चलते अगर चंद्रमा न दिखे तो शहर के मुताबिक चंद्र दर्शन के दिए समय पर पूर्व उत्तर दिशा में चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत पूरा किया जा सकता है। यह इसलिए भी खास हो जाता है, क्योंकि आज बुधवार है। तब तक के लिए चांद निकलने तक क्यों न आप भी बन जाएं कारोबार की बहार। ज्वेलरी के साथ कपड़ों की कारीगरी में परंपरागत परिधानों की डिमांड के अनुरूप की गई है तैयारी।

श्री नाकोड़ा ज्वेलर्स निहारिका मार्ग कोरबा के संचालक मुकेश कहते हैं कि खास करवा चौथ के लिए पायल से नेकलेस तक और मांग टीका तक, गृहणी की फरमाइश के मुताबिक ट्रेडिशनल कलेक्शन की भरमार है। वजनी गहनों से लेकर लाइट वेट वाले रानी हार के भी खूबसूरत कलेक्शन, कपड़ों की कारीगरी में परंपरागत परिधानों की डिमांड के अनुरूप की गई है तैयारी। इसके अलावा बढ़ते चलन के अनुरूप हीरे की चमक से सदा के लिए जिंदगी रौशन बनाते खूबसूरत गहने, अंगूठी और ढेर सारे डिजायनर ज्वेलरी का संग्रह रखा गया है।

विशेष तौर पर करवाचौथ के लिए गहनों और कपड़ा का विशाल कलेक्शन बाजारों की रौनक को चार चांद लगा रहा है, जिसे त्योहारों के सीजन में खरीदी और कारोबार भी शुभारंभ माना जा सकता है। कपड़ा बाजार में टिशू फैब्रिक साड़ी की मांग में भी बढ़ोतरी दर्ज की जा रही है।नकरवा चौथ का त्योहार बुधवार को है। इसके लिए बाजार भी पूरी तरह से तैयार है। सराफा बाजार में विशेष रूप से करवाचौथ के लिए रानी हार तीन तोले वाली (पांच लड़ी वाली चैन) आई है। कारोबारियों का कहना है कि महिलाओं द्वारा रानी हार की मांग हमेशा बनी रहती है। इसे देखते हुए ही इसे लाइटवेट में भी लाया गया है। इसकी कीमत लगभग दो लाख रुपये है। इसके साथ ही नेकलेस सेट, चैन सेट, कंगन, टाप्स, झुमका के नए कलेक्शन है। इसके साथ ही जेंट्स के लिए गोल्ड के आकर्षक ब्रेसलेट आए हुए हैं। सराफा कारोबारियों का कहना है कि सोने की बढ़ती कीमतों का ध्यान रखते हुए लाइटवेट में भी ज्वेलरी उपलब्ध है। साथ ही पारंपरिक ज्वेलरी कलेक्शन (भारी वजन) वाले भी उपलब्ध हैं। सराफा संस्थानों में चांदी के सिक्के भी हर उत्सव के अनुसार आए हुए हैं। शादी की सालगिरह, जन्मदिन से लेकर लक्ष्मी पूजन और भगवान के जन्मोत्सव के अनुसार चांदी की मूर्तियां उपलब्ध है। सराफा कारोबारी हरख मालू ने बताया कि त्योहारी सीजन को देखते हुए गहनों के नए कलेक्शन उपलब्ध है। ग्राहकों द्वारा भी इसे काफी पसंद किया जा रहा है। दोनों कीमती धातुओं में अब तेजी के ही संकेत हैं। शुभ दिनों के लिए बुकिंग भी जबरदस्त की जा रही है।

मंगलसूत्र व ट्रेडिशनल ज्वेलरी की फरमाइश अधिक: जय सोनी
जेके ज्वेलर्स के संचालक जय सोनी ने बताया कि वैसे तो सोना चांदी सबके लिए सदैव प्रिय ही होते हैं, पर करवा चौथ के उत्सव को यादगार बनाने महिलाएं ट्रेडिशनल ज्वेलरी को ज्यादा पसंद करती हैं। सबसे अधिक मंगल सूत्र की फरमाइश आती है। उनकी डिमांड के अनुरूप एंटीक ज्वेलरी, कुंदन वर्क, जयपुरी जड़ाऊ, डिजाइनर ज्वेलरी का भरपूर कलेक्शन रखा गया है। अपने श्रृंगार को पूर्ण करने में अहम गहने जैसे लॉन्ग सेट चूड़ी, कड़ा, कंगन की भी फरमाइश काफी आ रही है, जो दीपावली तक बढ़ती ही रहेगी। श्री सोनी ने कहा कि कीमतों में उतार चढ़ाव तो सामान्य क्रम है और जिन्हें अपनी आवश्यकता के मुताबिक जो चाहिए होता है, वह ले ही लेता है।

परंपरागत परिधानों का रेडीमेड वर्जन: अशोक अग्रवाल

अग्रवाल गारमेंट्स के संचालक अशोक अग्रवाल ने बताया कि हमारे यहां तो वर्तमान में ट्रेंड पकड़ चुके कल्चर के अनुरूप हर प्रकार-रेंज और डिजाइन के रेडीमेड कपड़ों का कलेक्शन मौजूद है। उन्होंने कहा कि खासकर करवाचौथ व त्योहारी सीजन को देखते हुए इन दिनों ग्राहकों की काफी भीड़ बनी हुई है। ग्राहकों की मांग और पसंद के अनुसार त्योहारी व शादी सीजन के हिसाब से साड़ियां, सलवार सूट्स सहित अन्य कपड़ों की रेंज है। इसके अलावा शहर के कपड़ा बाजार में साड़ियों में टिशू फैब्रिक कलेक्शन के साथ ही सिल्क की साड़ियां काफी पसंद की जा रही है। करवाचौथ में महिलाएं लाल रंग की साड़ी पहनना ही ज्यादा पसंद करती हैं। इसके चलते कपड़ा बाजार में लाल रंग की साड़ी की मांग ज्यादा है। इसके अलावा पीले रंग की साड़ी भी खूब पसंद की जा रही है।

बोनस से मिलेगा त्योहारी कारोबार को बूम
औद्योगिक नगरी कोरबा के बाजार और कारोबार में उद्योग कर्मियों को मिलने वाले बोनस की भूमिका किसी संजीवनी बूटी से कम नहीं। शारदीय नवरात्रि से शुरू हुए त्योहारी सीजन में धीरे धीरे बहार लौटने की ओर है, जो इस अवसर पर मिलने वाले बोनस की पहली खरीदारी के साथ करवा चौथ पर दिखाई देगा। इसके साथ ही बाजार के कारोबार में बूम मिलने की उम्मीद कारोबारी कर रहे हैं। इधर गिफ्ट बाजार में भी करवाचौथ को लेकर धूम बनी हुई है। बाते चाहे मोबाइल हैंडसेट की हो या एसेसरीज की या फिर अन्य उपहारों की, संस्थानों में पूछ-परख बढ़ गई है। वहीं दूसरी ओर चूड़ी व सौंदर्य प्रसाधन वाले संस्थानों में महिलाओं की भीड़ बढ़ गई है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.