May 24, 2024

मेंटेनेंस के बहाने राखी में रेलवे की बेरूखी, रक्षाबंधन में नहीं आएगी मेमू पैसेंजर स्पेशल

1 min read

त्योहारी सीजन में भी रेल अफसरों की मनमानी जारी, भाई-बहन के पर्व की खुशियों में पड़ेगी खलल, 3 सितंबर तक रद्द

कोरबा(thevalleygraph.com)। त्योहारों का खास सीजन आते ही एक बार फिर यात्री ट्रेनों की चाल में खलल पड़ गई है। इस बार रक्षाबंधन पर रेलवे की बेरुखी भारी पड़ रही है। भाई-बहन के प्रेम के पर्व राखी के अवसर पर मेमू पैसेंजर स्पेशल को कोरबा की पटरी से बाहर कर दिया गया है। बुधवार को जहां रायपुर-गेवरा नहीं आई, गुरुवार से गेवरा-रायपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल का परिचालन भी रद्द रहेगा। दोनों ही ट्रेनें क्रमश: दो व तीन सितंबर तक नहीं चलेंगी, जिससे पर्व के दौरान आम यात्रियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

तकनीकी कार्यों का हवाला देकर ट्रेनों के परिचालन को प्रभावित किए जाने का असर रक्षाबंधन पर भाइयों और बहनों पर पड़ेगा। रेलवे ने जिन ट्रेनों को रद्द किया है, उनमें रायपुर-गेवरा रोड मेमू पैसेंजर भी शमिल है। दो सितंबर तक 08746 रायपुर-गेवरा रोड मेमू पैसेंजर स्पेशल और तीन सितंबर तक 08745 गेवरा रोड-रायपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे प्रशासन ने विभिन्न सेक्शनों में गतिशीलता के उन्नयन और चल रहे विभिन्न सुरक्षा संबंधी रखरखाव कार्यों में सुधार एवं ट्रैक रखरखाव के काम के लिए जोन की 20 लोकल व पैसेंजर ट्रेनों को बुधवार 23 अगस्त से लेकर 3 सितंबर तक 11 दिन के लिए रद्द कर दिया है। ऐन त्योहार के समय लंबी दूरी की ट्रेनें तो कैंसिल हैं ही अब लोकल यानी जयरामनगर, अकलतरा, कोटमीसोनार, कोटा, सलकारोड, बेलगहना और कटनी तक जाने के लिए भी लोगों को ट्रेन नहीं मिलेगी। रेलवे प्रशासन ने रक्षाबंधन पर्व का भी ध्यान नहीं रखा है।देश भर के अलग-अलग जोन में चल रहे रेल लाइन के दोहरीकरण और अन्य मरम्मत कार्यों की वजह से लंबी दूरी की कुछ ट्रेनें 30 अगस्त तक रद्द हैं। जिन ट्रेनों को रद्द किया गया है, उनकी रूट से शहर आने या यहां से उस रूट पर जाने वालों को परेशानी हो सकती है। लोकल और पैसेंजर ट्रेनें जो 200 या 300 किलोमीटर के दायरे में चल रही है, उसमें भी ज्यादातर रद्द हैं।
यात्रा के दौरान भीड़ बढ़ने से होगी समस्या
आम तौर पर त्योहारों की शुरुआत के साथ रेलवे का पीक सीजन भी शुरू हो जाता है। इस दौरान बड़ी संख्या में आम यात्री अपने अपने गांव, घर या रिश्तेदारों के घर जाते हैं। यात्रा का सबसे रियायती और सरल-सुलभ माध्यम माने जाने के कारण ट्रेनों का इस्तेमाल बहुतायत में होता है। ऐसे में रक्षाबंधन के दौरान भी ज्यादातर यात्री ट्रेनों में भारी भीड़ नजर आती है, जो इस बार भी देखी जाएगी। ऐन पर्व के दौरान ट्रेन रद्द कर दिए जाने के असर से जहां अन्य ट्रेनों में भारी भीड़ होगी, आम यात्रियों को भी परेशान होना पड़ेगा।

रखरखाव के बहाने कुल 30 ट्रेनों को किया कैंसिल
ट्रेनों के कैंसिलेशन के चलते लंबी दूरी के साथ ही लोकल ट्रेनों का परिचालन प्रभावित रहेगा। रेलवे ने छत्तीसगढ़ से होकर चलने वाली 20 ट्रेनों को फिर से कैंसिल कर दिया है। दोहरी और तीसरी रेल लाइन के साथ ही सुरक्षा और रखरखाव के बहाने पिछले दो महीने से ट्रेनों को लगातार कैंसिल करने का सिलसिला चल रहा है। इस बार डेवलपमेंट और मेंटेनेंस के बहाने आज से तीन सितंबर तक गाड़ियों को रद्द किया गया है। इस तरह बार-बार यात्री ट्रेनों को रद्द करने की मनमानी लगातार जारी है। खासकर कोरबा और गेवरा के यात्रियों के लिए यह त्योहार यात्रा की दृष्टि से मुश्किल हो सकता है।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.