April 22, 2024

नक्सल मोर्चे पर अदम्य साहस, इंस्पेक्टर यशवंत को पुलिस वीरता पदक, ग्राम सीस के युवा पुलिस अफसर को स्वतंत्रता दिवस पर CM भूपेश करेंगे सम्मानित

1 min read

एक जून 2021 में SI यशवंत श्याम घात लगाकर बैठे नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए बल को प्रोत्साहित करते रहे। दो नक्सलियों के शव, दो मैगजीन सहित एक 7.62 एमएम एसएलआर राइफल मैगजीन के साथ एक 303 राइफल, 315 बोर की एक देशी राइफल, एक देसी 303 राइफल और 12 बोर की एक देशी राइफल इत्यादि बम बारूद बरामद की गई। इस अभियान में सफलता और बहादुरी के लिए निरीक्षक के पद पर पदोन्नत किया गया।

कोरबा।(thevalleygraph.com)। नक्सली मोर्चे पर अदम्य साहस का परिचय देते हुए नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देने वाले निरीक्षक यशवंत श्याम को राष्ट्रपति पुलिस वीरता पदक से पुरस्कृत किया जाएगा। 15 अगस्त को राजधानी रायपुर में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल उन्हें सम्मानित करेंगे। जिले के वीर सपूत के पुरस्कृत व सम्मानित किए जाने के इस गौरवपूर्ण खबर से गांव और क्षेत्र के लोगों में खुशी की लहर है।

पुलिस विभाग में निरीक्षक यशवंत श्याम पाली के निकट ग्राम सीस का सपूत है। वे वर्तमान में जिला जिला कोंडागांव बस्तर में निरीक्षक के पद पर पदस्थ हैं। उन्हें स्वाधीनता दिवस समारोह में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पुलिस वीरता पदक सम्मानित करेंगे। इस वर्ष पूरे प्रदेश से 7 पुलिसकर्मियों को पुलिस वीरता पदक पुरस्कार से सम्मानित किया जा रहा है। यह कोरबा जिला व पाली क्षेत्र के लिए गौरव की बात है। छोटे से गांव सीस के किसान चैनसिंह श्याम के छोटे बेटे यशवंत श्याम ने सीस पाली में प्रारम्भिक शिक्षा ग्रहण करने के बाद स्कूल और महाविद्यालय की पढ़ाई बिलासपुर के पीएमटी बालक छात्रावास में रहकर की। यशवंत श्याम उपनिरीक्षक सीधी भर्ती 2013 बैच नेताजी सुभाषचंद्र बोस पुलिस अकादमी चंद्रखुरी रायपुर से बुनियादी प्रशिक्षण प्राप्त कर जंगलवार कॉलेज कांकेर में जंगलवार ट्रेनिंग करने के बाद रायपुर में प्रशिक्षु उपनिरीक्षक के रूप में कार्य करने के बाद रायपुर से जिला गरियाबंद में पहली पोस्टिंग हुआ। गरियाबंद जैसे नक्सली जिले के डीआरजी टीम में कार्यरत रहे और उसका  नेतृत्व किया। मिजोरम में जंगलवार की ट्रेनिंग करने के बाद जिला गरियाबंद में मुठभेड़ में एक नक्सली को मार गिराया। जिला गरियाबंद से जिला कोंडागांव के लिए ट्रांसफर हुए। डीआरजी कोंडागांव के प्रभारी रहते नक्सल प्रभावित अंदरूनी गांव में सड़क पुल निर्माण, 3 नवीन पुलिस कैम्प खोलने में महत्वपूर्ण योगदान दिया। एक जून 2021 को नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ में अपने बहादुरी के परिचय देते हुए 2 नक्सलियों को मौके पर मार गिराए।

भारी गोली-बारी के बीच नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब

एक जून 2021 में पुलिस अधीक्षक जिला कोंडागांव को विशेष आसूचना शाखा द्वारा प्राप्त सूचना के आधार पर उप निरीक्षक यशवंत श्याम के नेतृत्व में संयुक्त पुलिस पार्टी को रवाना किया गया था। घेराबंदी के दौरान वहां पर घात लगाकर बैठे नक्सलियों द्वारा पुलिस जवानों पर भारी गोलीबारी शुरू कर दी गई। उपनिरीक्षक यशवंत ने ने भारी गोलीबारी के बीच बहादुरी से अपने दल का नेतृत्व किया। आगे बढ़कर नक्सलियों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए बल को प्रोत्साहित करते रहे। गोलीबारी बंद होने के बाद क्षेत्र की तलाशी लेने पर दो नक्सलियों के शव  एक पुरुष-एक महिला तथा दो मैगजीन सहित एक 7.62 एमएम एसएलआर राइफल मैगजीन के साथ एक 303 राइफल, 315 बोर की एक देशी राइफल, एक देसी 303 राइफल और 12 बोर की एक देशी राइफल इत्यादि बम बारूद बरामद की गई। इस अभियान में सफलता और बहादुरी के लिए निरीक्षक के पद पर पदोन्नत किया गया।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.