April 25, 2024

डोर-टू-डोर चिट्टियां बांटने के साथ हर घर-सूर्यघर बनाने के अभियान में शामिल हुए पोस्टमैन

1 min read

प्रधान डाकघर से लेकर ग्रामीण डाक सेवकों को दी गई है सोलर पैनल के लिए पंजीयन करने की जिम्मेदारी

कोरबा(theValleygraph.com)। डोर-टू-डोर चिट्ठी-पत्री बांटने के साथ अब जिले के पोस्टमैन एक नई जवाबदारी भी संभाल रहे हैं। उन्हें सूर्य घर योजना के तहत सोलर पैनल के लिए लोगों को पंजीयन करने का कार्य सौंपा गया है। कोरबा शहर स्थित प्रधान डाकघर के डाकियों से लेकर ग्रामीण डाक सेवक तक, सभी जगह के पोस्टमैन इस कार्य में जुट गए हैं, जो प्रतिदिन डाक डिलिवरी के अपने मूल्य कार्य के बाद योजना के फायदे बताते हुए सोलर पैनल लेने लोगों का पंजीयन करा रहे हैं।
प्रधान डाकघर के डाकपाल विजय दुबे ने बताया कि मंगलवार से ही यह कार्य सभी पोस्टमैन को दिया गया है। दो दिनों से सोलर पैनल के लिए पंजीयन कराना शुरू किया गया है। उन्होंने बताया कि डाकिया का कार्य केवल पंजीयन कराना है और उसके बाद ही प्रक्रिया के लिए डाक विभाग की ओर से रिपोर्ट मुख्यालय को भेज दी जाती है। इस तरह केंद्र सरकार की सूर्योदय मुफ्त बिजली योजना को जन-जन तक पहुंचाने में डाक विभाग अहम भूमिका निभा रहा है। योजना में डाक विभाग को नोडल एजेंसी बनाया है। पोस्टमैन और ग्रामीण डाक सेवकों को प्रशिक्षण भी दिया गया है, ताकि उन्हें इस योजना के लाभ को लोगों तक पहुंचाने और अधिक से अधिक संख्या में सोलर पैनल के लिए पंजीयन कराने में आसानी हो सके। इस योजना के माध्यम से रियायती दर पर सोलर पैनल उपलब्ध कराया जाएगा, जिसे घरों की छत पर स्थापित किया जा सकता है। इसके माध्यम से घर पर ही सूर्य की किरणों से बिजली उत्पादन होगा। यह पावर ग्रिड से सस्ती होगी। पोस्टमैन और ग्रामीण डाक सेवकों से नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय के मोबाइल एप पर घर-घर जाकर पंजीकरण कर रहे हैं। इसके लिए डाक विभाग द्वारा अभियान चलाया जा रहा है। प्रति डिवाइस या डाक सेवक को एक निर्धारित संख्या में पंजीयन करने का लक्ष्य दिया है। इस योजना का लाभ लेने हेतु पीएम सूर्य घर योजना की वेबसाइट पर आवेदन किया जा सकता है। योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को केन्द्रीय अनुदान प्राप्त होगा।

106 शाखा डाकघर समेत करीब 350 डाकिया जुटे

घर घर चिट्ठियां बांट के साथ सोलर पैनल की बुकिंग की भी जिम्मेदारी संभाल रहे जिले के डाकिया बड़ी संख्या में इस अभियान से जुड़ गए हैं। इनमें केवल प्रधान डाकघर के ही करीब डेढ़ सौ पोस्टमैन शामिल हैं। इसके अलावा 20 उपडाकघरों और गांव-गांव में संचालित 106 शाखा डाकघरों समेत करीब 350 डाकिया इस योजना के तहत घर-घर सर्वे कर रहे हैं और लोगों से सोलर पैनल की डिमांड मिलने पर पंजीयन कर रहे हैं। लोगों में सौर ऊर्जा को प्रोत्साहित करने की शासन की इस मुहिम में डाक विभाग और डाकिया एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने के साथ अपना योगदान अर्पित कर रहे हैं।
रूफटॉफ की तस्वीर के साथ करें यह बातें अपलोड
बिजली बचाने और विद्युत क्षेत्र में आत्मनिर्भर बनने के लिए शासन से ग्राहकों को 300 रुपए यूनिट बिजली निशुल्क प्रदान किया जाएगा। पंजीयन के लिए घर के रूफटॉफ की तस्वीर, ग्राहक का मोबाइल नंबर, मेल आईडी, के नम्बर, उपभोक्ता का नाम, खाता संख्या, बिजली बिल की फोटो की जानकारी अपलोड कर सोलर रूफटॉप के लिए पंजीयन किया जा सकता है। हर-घर को सूर्य घर बनाकर सरकार उपभोक्ताओं के बिजली बिल को शून्य करने का प्रयास कर रही है। सरकार घर की छत पर सौर ऊर्जा पैनल लगाने के लिए मदद देगी व सीधे बैंक खातों में पैसा भेजेगी। इससे 300 यूनिट तक बिजली मुफ्त मिलेगी और उत्पादित अतिरिक्त बिजली सरकार वापस खरीदेगी, जिससे परिवारों को हर वर्ष आय होगी और स्थानीय स्तर पर रोजगार का अवसर भी मिल सकेगा।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © https://contact.digidealer.in All rights reserved. | Newsphere by AF themes.